नवनिर्वाचित सपा सभासद ने की सुसाइड, CM-डीएम के नाम छोड़ी चिट्ठी

उत्तर प्रदेश के महोबा में एक नवनिर्वाचित सभासद ने आर्थिक तंगी के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के पास से एक सुसाइड नोट बरामद किया है.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: December 10, 2017, 10:38 PM IST
ETV UP/Uttarakhand
Updated: December 10, 2017, 10:38 PM IST
उत्तर प्रदेश के महोबा में एक नवनिर्वाचित सभासद ने आर्थिक तंगी के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक के पास से एक सुसाइड नोट बरामद किया है. जिसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और जिले के डीएम से मदद की गुहार लगाई है. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज जांच शुरू कर दी है.

मिली जानकारी के मुताबिक, मामला महोबा के चरखारी कोतवाली क्षेत्र का है. मोहल्ला छोटा रमना में रहने वाला 40 वर्षीय ललिता प्रसाद अहिरवार की आर्थिक स्थिति बेहद ही कमज़ोर है. जिसके चलते लालता अपने दोस्तों और परिवारीजनों के सहयोग से हाल ही में संपन्न हुए नगर निकाय चुनाव में वार्ड नंबर 2 से सपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में उतारे थे. जिसमें लालता को सभासद के रूप में बड़ी जीत दर्ज हुई थी.

लेकिन परिवार में बच्चों की भरण-पोषण की चिंता उसे आए दिन परेशान कर रही थी. जिसके चलते वो बीते दो दिनों से खासा परेशान थे. लालता को दो मासूम बेटों और एक बेटी के भविष्य की चिंता सता रही थी. लेकिन वो बच्चों के लिए कुछ कर नहीं पा रहा था. जिसके चलते उसने प्रशासन के द्वारा मिले कांशीराम आवास के ब्लॉक नंबर 13 में कमरे के अंदर रस्सी डाल फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. इस मामले पर एएसपी वंशराज यादव का कहना है कि पूछताछ में पता चला है कि मृतक आर्थिक तंगी से परेशान था. जिसके चलते उसने सुसाइड की है. उसके पास से पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...