Home /News /uttar-pradesh /

omg in mahoba elderly who were declared dead and closed their pension they reached dm with proof of alive nodsp

OMG: 'अभी मैं जिंदा हूं' की तख्तियां गले में लटकाए DM के पास पहुंचे 6 बुजुर्ग, भावुक कर देगी कहानी

महोबा जिले में एक नही दो नही बल्कि पांच लोगों को मृत घोषित कर उनकी पेंशन बंद कर दी गई.

महोबा जिले में एक नही दो नही बल्कि पांच लोगों को मृत घोषित कर उनकी पेंशन बंद कर दी गई.

OMG News: बुंदेलखंड के महोबा जिले में एक नही दो नही बल्कि पांच लोगों को मृत घोषित कर उनकी पेंशन बंद कर दी गई. अब वह जिंदा होने का सबूत लेकर सरकारी चौखट पर जिंदा होने की गुहार लगा रहे है. डीएम ने उन्हें कहा है कि जल्द से जल्द कारवाई होगी.

अधिक पढ़ें ...

महोबा. सरकारी सिस्टम का भी अपना अनोखा फंडा है. जिसे चाहे मृत घोषित कर दे और जिसे चाहे जिंदा. इसलिए तो कहते हैं कि मुर्दा बोलता है. जी हां, बुंदेलखंड के महोबा जिले में एक नहीं, दो नहीं बल्कि पांच लोगों को मृत घोषित कर उनकी पेंशन बंद कर दी गई. अब वह जिंदा होने का सबूत लेकर सरकारी चौखट पर जिंदा होने की गुहार लगा रहे है.

कबरई विकास खंड के पचपहरा गांव के रहने बाले पांच व्यक्ति गले मे में जिंदा होने की तख्ती अपने गले मे लगाए धूम रहे हैं. यह अपने गले में ‘अभी मैं जिंदा हूं’ का जीता जागता सबूत दे रहे हैं. तो वहीं सरकारी सिस्टम को कोस रहे हैं. वृद्धावस्था पेंशन धारक बुजुर्गों का आरोप है कि गांव के पूर्व पंचायत सेकेट्री विक्रमादित्य ने रंजिश के सरमन, गिरजरानी, कालिया, सुरजी नन्दकिशोर, राकेश रानी को जिंदा होने के बाबजूद सरकारी दस्तावेजों में मृत दर्शा दिया गया. जिसके चलते गरीब असहाय बुजुर्गों को शासन की महत्वाकांक्षी बृद्ध पेंशन योजना का लाभ नही मिल पा रहा है .

इन पांच जिंदा लोगो मे किसी के पास भी अपनी जीविका चलाने का साधन नही है, जिसके चलते आज यह सभी जिलाधिकारी कार्यालय पहुंच गले मे तख्ती डालकर अपने जिंदा होने का सबूत दे रहे हैं.

महोबा कलेक्टर ने क्या कहा?
महोबा जिलाधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि आज कबरई विकासखंड के पचपहरा गांव के ग्रामीण आए हुए थे. जिनका आरोप है, कि गांव में तैनात पूर्व पंचायत सेक्रेट्री विक्रमादित्य मैं करीब 6 ग्रामीणों का नाम वृद्धावस्था पेंशन से काट दिया है. साथ ही इन सभी को सत्यापन रिपोर्ट में मृत दर्शाया है. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए एसडीएम, सीडीओ को जांच सौंपी गई है. जो सुबह 12:00 बजे तक प्रेषित होने के बाद आरोपी पंचायत सेक्रेटरी के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी. साथ ही सभी बुजुर्ग ग्रामीणों को सरकार की महत्वाकांक्षी वृद्धावस्था पेंशन का लाभ भी मुहैया कराया जाएगा.

Tags: Mahoba latest news, Mahoba news

अगली ख़बर