बड़ा खुलासा: महोबा के चर्चित कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी ने खुद को गोली मार की थी आत्महत्या- SIT रिपोर्ट

महोबा में व्यापारी इंद्रकांत की मौत मामले में पूरी थ्योरी ही बदल गई है. (File Photo)
महोबा में व्यापारी इंद्रकांत की मौत मामले में पूरी थ्योरी ही बदल गई है. (File Photo)

एडीजी, प्रयागराज प्रेम प्रकाश (ADG, Prayagraj Prem Prakash ने बताया कि मृतक व्यापारी इंद्रकांत के पार्टनर बल्लू महाराज और अर्जुन के बीच के ऑडियो से इन्द्रकांत द्वारा गोली खुद को मारने का जिक्र किया जा रहा है. पुलिस के भय से उनके साले ब्रजेश शुक्ला ने पिस्टल को छिपा रखा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 26, 2020, 6:31 AM IST
  • Share this:
महोबा. उत्तर प्रदेश के महोबा (Mahobha) के चर्चित विस्फोटक कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी हत्याकांड (Indrakant Tripathi Murder Case) का एडीजी प्रयागराज प्रेम प्रकाश (ADG, Prayagraj Prem Prakash) ने शुक्रवार देर शाम बड़ा खुलासा किया. इस खुलासे के बाद इंद्रकांत त्रिपाठी की मौत की थ्योरी ही पूरी तरह से बदल गई है. मामले में गठित विशेष जांच दल (SIT) की प्रथम रिपोर्ट मे मृतक व्यापारी की लाइसेंसी पिस्टल से ही चली गोली से इंद्रकांत त्रिपाठी की मौत यानि आत्महत्या (Suicide) की बात सामने आई है.

कोरोना पॉजिटिव मणिलाल पाटीदार के नहीं  हुए हैं बयान

एडीजी प्रेम प्रकाश ने बताया कि तत्कालीन एसपी मणिलाल पाटीदार के कोरोना पॉजिटिव होने की वजह से अभी तक उनका कोई भी बयान जांच में शामिल नहीं किया गया है. अभी विवेचना के आधार पर सभी आरोपियों खिलाफ जांच जारी है. साथ ही गोलीकांड वाले दिन जारी जुए के वीडियो के बारे में भी गहनता से पूछताछ की जा रही है.



वायरल ऑडियो में इंद्रकांत द्वारा खुद को गोली मारने का जिक्र
एडीजी ने बताया कि मृतक व्यापारी इंद्रकांत के पार्टनर बल्लू महाराज और अर्जुन के बीच के ऑडियो से इन्द्रकांत द्वारा गोली खुद को मारने का जिक्र किया जा रहा है. इस ऑडियो से साफ जाहिर होता है कि इन्द्रकांत को सामने से ही गोली लगी थी. इसके बाद पुलिस के भय से उनके साले ब्रजेश शुक्ला ने पिस्टल को छिपा रखा था. वहीं दूसरे ऑडियो में पार्टनर बल्लू महाराज ओर आशाराम के बीच व्यापारी इंद्रकांत द्वारा खुद को गोली मारने का जिक्र किया जा रहा है. हालांकि साथ ही एडीजी ने ये भी कहा कि अभी तक मामले से जुड़े किसी भी व्यक्ति को क्लीन चिट नहीं दी गई है.

एसआईटी ने वह लाइसेंसी पिस्टल भी बरामद की है, जिससे इंद्रकांत को गोली लगी थी. पिस्टल की बैलिस्टिक रिपोर्ट मिलने के बाद एसआईटी ने अपनी जांच पूरी कर शासन को भेज दी है.

मणिलाल पाटीदार पर लगाए थे गंभीर आरोप

बता दें कि इंद्रकांत त्रिपाठी ने महोबा के पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार पर रिश्वत खोरी के गंभीर आरोप लगाए थे और अपनी हत्या की आशंका व्यक्त की थी. आरोप लगाने के अगले ही दिन इंद्रकांत को गोली लगी थी, जिसके बाद उन्हें कानपुर में भर्ती कराया गया था, जहां 5 दिनों बाद इंद्रकांत की मौत हो गई थी. इस मामले में मणिलाल पाटीदार को पहले ही निलंबित किया जा चुका है. इंद्रकांत पर हमले के मामले में भी मणिलाल पाटीदार को नामजद किया गया था.

इनपुट: मनोज कुमार ओझा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज