अपना शहर चुनें

States

आवारा पशुओं पर लगाम लगाने के लिए जब DM डंडा लेकर निकले

डीएम के साथ तमाम समाजसेवियों और पूर्व सांसद गंगाचरण राजपूत भी इस मुहीम में शामिल हुए . डीएम ने लगभग एक दर्जन अन्ना पशुओं को पकड़कर गौशाला पहुँचाया. इस मौके पर डीएम महोबा ने एक चारा बैंक की शुरुआत करने की घोषणा की.

  • Share this:
महोबा के डीएम ने अन्ना पशुओं पर लगाम लगाने और उन्हें सुरक्षित करने के लिए अनूठा प्रयास किया है. उन्होंने स्वयं डंडा लेकर आवारा पशुओं को पकड़कर गौशाला पहुंचाने का काम किया.  डीएम के साथ तमाम समाजसेवियों और पूर्व सांसद गंगाचरण राजपूत भी इस मुहीम में शामिल हुए . डीएम ने लगभग एक दर्जन अन्ना पशुओं को पकड़कर गौशाला पहुँचाया. इस मौके पर डीएम महोबा ने एक चारा बैंक की शुरुआत करने की घोषणा की. साथ ही समाजसेवियों, आमजन, व्यापार मंडल से अन्ना पशुओं के लिए चारा दान करने भी की अपील की है. डीएम की इस पहल की हर कोई सराहना कर रहा है.

दरअसल बुंदेलखंड में प्रचलित अन्ना प्रथा किसानों के लिए नासूर बन गई है. ऐसे में महोबा के डीएम सहदेव ने इन पशुओं को सुरक्षित करने और इस प्रथा से किसानों को निजात दिलाने के लिए खुद मैदान में आ गए हैं. आज सुबह अचानक हाथों में लाठी लेकर निकले डीएम गायों को पकड़वाते नजर आये. डीएम के साथ समाज के जागरूक लोग, सरकारी अमला और पूर्व सांसद भी चल रहे थे. साथ ही आधी रोटी खायेंगें, गाय बचाएंगे जैसे नारे लगाकर लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया गया.

बता दें कि इस अभियान को नगर के प्रत्येक नगर पंचायत/नगर पालिका में चलाया जा रहा है. इस अभियान की शुरुआत डीएम आवास चौराहा से हुई. डीएम ने कहा कि इस अभियान के दौरान विचरण करते पाए गए गोवंश को गौशालाओं एवं कांजी हाउसों में रखा जाएगा तथा उनकी देखभाल की जाएगी. उनका कहना है कि यह अभियान अनवरत चलता रहेगा.



उन्होंने सभी जनपद वासियों से अपील की है कि कम से कम एक गौवंश को जरूर पालें.साथ ही गौशालाओं को संचालित करने में हमारी मदद करें. डीएम ने इस अवसर पर रोटी बैंक की तर्ज पर "चारा बैंक "का संचालन करने की बात कही. प्रदेश में इस तरह की पहली एवं अनूठी पहल के लिए पूर्व सांसद गंगा चरण राजपूत ने डीएम की भूरि-भूरि प्रशंसा की. (रिपोर्ट-मनोज ओझा)
ये भी पढ़ें: विधानसभा में पारित हो चुका गाय को राष्ट्रमाता घोषित करने का संकल्प, संबंधित विभाग उदासीन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज