दो IAS ने कोर्ट में की मैरिज, रजिस्ट्रेशन करा दिया दहेज़ मुक्त शादी का संदेश

डीएम ने बताया कि उन्हें इस विवाह की खबर नहीं थी. अचानक एडीएम कोर्ट में उन्हें और एसपी को बुलाया गया.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 27, 2018, 9:19 PM IST
दो IAS ने कोर्ट में की मैरिज, रजिस्ट्रेशन करा दिया दहेज़ मुक्त शादी का संदेश
Photo: ETV/NEWS18
ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 27, 2018, 9:19 PM IST
महोबा में दो आईएएस अफसरों ने एडीएम कोर्ट में जाकर अचानक शादी कर ली. चोरी-चोरी और चुपके-चुपके दोनों अधिकारियों ने विवाह रचा लिया और किसी को भनक तक नहीं होने दी. यहीं नहीं, जिले के आलाधिकारियों को भी इस बात का मलाल है कि सदर एसडीएम को इतनी जल्दी शादी की क्या जरूरत पड़ी कि किसी को सूचित तक नहीं किया. दोनों आईएएस अधिकारी शादी करके छुट्टी पर भी चले गए.

मिली जानकारी के मुताबिक, शादी करने वाले दोनों अधिकारी असम कैडर की आईएएस प्रेरणा शर्मा और यूपी कैडर के आईएएस मृदुल चौधरी हैं. दोनों एडीएम कार्यालय में मंगलवार की देर शाम पहुंचे थे. जिसकी खबर जिलाधिकारी को भी नहीं मिल सकी. डीएम सहदेव बताते हैं कि उन्हें इस विवाह की खबर नहीं थी. अचानक एडीएम कोर्ट में उन्हें और एसपी को बुलाया गया कि सदर एसडीएम मृदुल चौधरी कोर्ट मैरिज कर रहे है, आपको बुलाया है. इसके बाद दोनों अधिकारी मौके पर पहुंचे. महोबा जिलाधिकारी, एसपी सहित समाजसेवियों ने भी नव जोड़ें को बधाई दी.

महोबा जिलाधिकारी सहदेव ने बताया कि यह शादी और भी यादगार बन सकती थी अगर दोनों अधिकारियों ने पहले से इस विवाह की सूचना दी होती. जिलाधिकारी सहदेव ने दोनों को नवदाम्पत्य जीवन के लिए आशीर्वाद देते हुए मंगल कामना की. दोनों 2014 बैच के आईएएस अधिकारी है. दोनों ने अकादमी में एक साथ प्रशिक्षण लिया था. यहीं दोनों की मुलाकात हुई और एक-दूसरे को पसंद करने लगे. रिश्ता आगे बढ़ने लगा और यूपी के महोबा में एसडीएम मृदुल चौधरी और असम के गोहाटी सचिवालय में पोस्टिड प्रेरणा शर्मा के बीच ये प्रेम सम्बन्ध विवाह के बंधन में बंध गए.

बता दें, प्रदेश की सरकार सामूहिक विवाह कार्यक्रम चलाकर संदेश देने का काम कर रही है. जिले में भी अब तक चार सामूहिक विवाह कार्यक्रम हो चुके है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर