प्रेमिका के पिता को रास्ते से हटाने के लिए प्रेमी ने की शार्प शूटर से दोस्ती, फिर 50 हजार में...
Mainpuri News in Hindi

प्रेमिका के पिता को रास्ते से हटाने के लिए प्रेमी ने की शार्प शूटर से दोस्ती, फिर 50 हजार में...
उसने कहा कि सुबह हुई तो गांव के लोगों को मर्डर के बारे में पता चला. (सांकेतिक फोटो)

सोनू (Sonu) ने कहा कि इसी बीच मेरी गांव के ही शार्प शूटर ब्रहमपाल से दोस्ती हो गई. उसको सारा प्लान बताया. उसने मर्डर करने के लिए 50,000 रुपए मांगे.

  • Share this:
मैनपुरी. उत्तर प्रदेश के मैनपुरी (Mainpuri) जिले में कुछ दिन पहले 11जून की सुबह- सुबह यह सूचना मिली थी कि गांव रमईहार (Village Ramaihar) के पास एक व्यक्ति की 2 गोली मार कर हत्या कर दी गई है. मृतक नंद किशोर का शव मक्के के खेत की फेंसिंग पर लटका मिला था. परिजनों ने गांव के ही दो लोग राकेश व दिवाकर को नामजद कराते हुए मुकदमा दर्ज कराया था. पुलिस की तफ्तीश चालू हुई तो पुलिस ने हर ऐंगल पर पड़ताल किया. नामजद अभियुक्तों से सघन पूछताछ हुई. पर, मामला काफी पेचीदा होने के कारण अपेक्षित परिणाम न निकल सका.तफ्तीश चालू होने के कुछ ही दिन बाद मृतक की पुत्री अंजली और गांव के ही एक युवक सोनू (Sonu) उर्फ सुनील के बीच प्रेम संबंधों की बात मुखबिरों द्वारा पता चली, तो घटना में एक नया ट्विस्ट आ गया.

लड़की के प्रेमी सोनू उर्फ सुनील (उम्र 20 वर्ष, फ़ार्मेसी का छात्र) से जब पूछताछ हुई तो शुरू में वह पुलिस पर ही गुर्राने लगा. लेकिन सोनू बार- बार अपना बयान बदल रहा था. इस पर पुलिस का शक गहराता गया और जब पुलिस ने हिकमत अमली से पूछताछ शुरू की तो घटना प्याजज के छिलके की तरह पर्त दर पर्त खुलती गई. अंत में सोनू ने अपने जुर्म का इकबाल किया और रोते-बिलखते हुए पुलिस को बताया कि “मृतक नंद किशोर ने मेरी प्रेमिका अंजली को फोन पर मुझसे बात चीत करते हुए पकड़ लिया था. इसके बाद से अंजली के घर में काफी सख़्ती हो गई थी. यही नहीं, मृतक ने अंजली की शादी दूसरी जगह तय करने के बाद मुझे अकेले में बुलाकर जान से मार डालने की धमकी तक दे डाली थी. तब मैं काफ़ी डर गया था और तभी से मैं नंद किशोर को रास्ते से हटाने के बारे में सोचने लगा था.

 इसी बीच मेरी गांव के ही शार्प शूटर ब्रहमपाल से दोस्ती हो गई
सोनू ने कहा कि इसी बीच मेरी गांव के ही शार्प शूटर ब्रहमपाल से दोस्ती हो गई. उसको सारा प्लान बताया. उसने मर्डर करने के लिए 50,000 रुपए मांगे. मैं तैयार हो गया और 10,000 रुपए एडवांस भी दे दिए. इसके कुछ ही दिन बाद शूटर ब्रहमपाल ने 2 तमंचो की व्यवस्था की. संतोष नामक आदमी ने कारतूसों की व्यवस्था की और प्लान फ़ाइनल हो गया. 10 जून की रात मैं और ब्रह्मपाल मर्डर करने की नीयत से निकले. मृतक नंद किशोर रोजाना की तरह खाना खाकर अपनी ट्यूबवेल पर सोने के लिए निकला. हम दोनों पीछे लग गए. जैसे ही नंद किशोर मक्का के खेतों के बीच पहुंचा तो हमने उसे घेर कर एक- एक करके दो गोलियां पेट और सिर में मार दी. मैंने पेट में गोली मारी और ब्रहमपाल ने सिर में गोली मार दी. नंद किशोर फेंसिंग पर गिर गया और हम दोनों भाग गए .फिर दोनों तमंचों को प्राइमरी स्कूल के पीछे खेत में छिपा दिया.
गांव के लोगों को मर्डर के बारे में पता चला


उसने कहा कि सुबह हुई तो गांव के लोगों को मर्डर के बारे में पता चला. फ़ौरन पुलिस भी आ गई थी. उस वक्त हम भी उसी भीड़ में शामिल थे. फिर जब दो अलग -अलग लोगों की नामजदगी हुई तो हम दोनों बहुत खुश हुए और ठहाका लगा कर हंसे भी थे. लेकिन साहब भगवान को कुछ और ही मंज़ूर था. हमें माफ कर दिया जाए. आइंदा ऐसा काम नहीं करेंगे.

दोनों आरोपी गिरफ्तार
इसके बाद पुलिस टीम द्वारा न केवल शूटर ब्रहमपाल को गिरफ़्तार कर लिया गया बल्कि दोनों असलहों को रमईहार गांव वालों की मौजूदगी में उनके सामने ही सोनू और ब्रहमपाल की निशान देही पर प्राइमरी स्कूल के पीछे वाले खेत से बरामद भी कर लिया गया. इस खुलासे से एक तरफ न केवल मुख्य दो हत्यारे सोनू और शूटर ब्रहमपाल जेल की सलाख़ों के पीछे जा रहे हैं बल्कि, दूसरी तरफ़ दो निर्दोष नामज़दों राकेश व दिवाकर की ज़िन्दगी अपराधी होने के दाग से बच गई है. पुलिस की मेहनत, लगन व दिन-रात काम करने से ही यह संभव हो सका है. इस निष्पक्षतापूर्ण कार्य को देखते हुए थाना प्रभारी कोतवाली भानु प्रताप सिंह, सर्विलांस प्रभारी जोगिन्दर व स्वाट प्रभारी राम नरेश व उनकी टीम को  25,000 रुपए का नकद इनाम प्रदान किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading