मैनपुरी: सपा विधायक ने अपने खिलाफ मुकदमे को बताया षड्यंत्र, बोले...

सपा विधायक राजकुमार यादव
सपा विधायक राजकुमार यादव

मैनपुरी (Mainpuri) में सपा विधायक राजकुमार यादव ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि अगर भाजपा नेत्री के पास कोई साथ हो तो वह पेश करें. उन्होंने गरीबों और मजदूरों की मदद की है और वह आगे भी करते रहेंगे. समाजवादी पार्टी हर पीड़ित के साथ खड़ी है और खड़ी रहेगी.

  • Share this:
मैनपुरी. उत्तर प्रदेश के मैनपुरी (Mainpuri) में सपा विधायक और भाजपा नेत्री के बीच हुआ हुए विवाद अब गरमाता जा रहा है. भाजपा नेत्री ने थाने में विधायक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है, जिसके बाद सपा विधायक राजकुमार यादव (SP MLA Rajkumar Yadav) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पलटवार किया है. सपा विधायक ने दावा किया है कि भाजपा नेत्री द्वारा जो रिपोर्ट दर्ज कराई गई है, वह पूरी तरह से झूठी है. अगर भाजपा नेत्री के पास कोई साथ हो तो वह पेश करें. उन्होंने गरीबों और मजदूरों की मदद की है और वह आगे भी करते रहेंगे. समाजवादी पार्टी हर पीड़ित के साथ खड़ी है और खड़ी रहेगी.

सपा विधायक का बयान

समाजवादी पार्टी के विधायक राजकुमार यादव ने कहा कि उनकी छवि खराब करने के लिए विपक्षी दल के नेता ने रिपोर्ट दर्ज कराई है. भाजपा नेत्री के पास मेरे खिलाफ कोई सबूत हो तो वह पेश करें. रिपोर्ट पूरी तरह से झूठी दर्ज कराई गई है. उन्होंने यादव नगर के रहने वाले एक परिवार की मदद की थी, जिससे के बाद पूरा विपक्ष बौखला गया है. हाथरस केस में जिसने न्याय की आवाज उठाई, उसके खिलाफ केस दर्ज कराए गए. अब मेरे द्वारा पीड़ित परिवार की आवाज उठाई गई तो सरकार ने मेरे खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है. सपा विधायक ने कहा कि मैं पीड़ित और मजदूरों की आवाज उठाता रहूंगा और मेरी समाजवादी पार्टी हर गरीब और कमजोर के साथ हमेशा खड़ी रहेगी.




यह था मामला

मैनपुरी के मोहल्ला यादव नगर में 12 अक्टूबर को दो परिवारों के बीच विवाद हो गया था. जिसके बाद कोतवाली पुलिस ने दोनों ही पक्षों के लोगों को पकड़कर थाने में बैठा लिया था. यहां सीमा चौहान ने दोनों के बीच समझौता कराया था, जिसके बाद सभी को थाने से छोड़ दिया गया. इसी मामले में सदर विधायक एक पक्ष की मदद कर रहे थे. इसी के चलते अब एक पक्ष सीमा चौहान के साथ खड़ा है. तो दूसरा सपा विधायक के समर्थन में आ गया है. यादव नगर में रहने वाला परिवार सदर विधायक के समर्थन में खड़ा हुआ है.

परिवार की एक युवती ने अपने आवास पर पत्रकारों से वार्ता करते हुए विधायक पर लगाए गए आरोपों को निराधार बताया. युवती का कहना है कि पड़ोस में ही रहने वाले युवकों ने उसके साथ छेड़छाड़ की विरोध करने पर परिवार को पीटा गया. वहीं सीमा चौहान के इशारे पर पुलिस पीड़ित परिवार को कोतवाली ले गई. यहां रिपोर्ट दर्ज करने की जगह दबाव बनाकर समझौता करा दिया गया. सपा विधायक मेरी और मेरे परिवार की मदद कर रहे हैं. इस वजह से उनके खिलाफ षडयंत्र रचा जा रहा है. वहीं महिला नेता का आरोप है कि इस बात को लेकर विधायक सीमा चौहान को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं और गाली-गलौज कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज