मैनपुरी: पराली जलाने पर किसान को कॉलर पकड़कर खींच ले गए इंस्पेक्टर, 5 गिरफ्तार कर भेजे गए जेल

मैनपुरी में किसान को कॉलर से पकड़ खींचते इंस्पेक्टर अजीत सिंह की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.
मैनपुरी में किसान को कॉलर से पकड़ खींचते इंस्पेक्टर अजीत सिंह की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

मैनपुरी (Mainpuri) जिले के किशनी थाना क्षेत्र में एसडीएम रामसकल मौर्य पुलिस बल और उप कृषि निदेशक डीवी सिंह के साथ चेकिंग के लिए निकले थे. इसी दौरान पराली जलाने के 5 मामले सामने आए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 11:17 AM IST
  • Share this:
मैनपुरी. उत्तर प्रद्रेश में पराली जलाने (Stubble Burning) को लेकर तमाम जिलों में किसानों (Farmers) पर मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं. मैनपुरी में भी किसानों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. यहां किशनी पुलिस ने 5 किसानों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया. इस दौरान पुलिस और किसानों में खेत में पराली जलाने को लेकर विवाद भी हुआ, जिसके बाद किशनी इंस्पेक्टर अजीत सिंह किसान को कॉलर पकड़कर घसीटते हुए ले गए. इंस्पेक्टर की इस कार्रवाई की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

मामला मैनपुरी जिले के किशनी थाना क्षेत्र का है. यहां गुरुवार को एसडीएम रामसकल मौर्य पुलिस बल और उप कृषि निदेशक डीवी सिंह के साथ क्षेत्र में चेकिंग के लिए निकले थे. इसी दौरान पराली जलाने के 5 मामले सामने आए. मौके पर ही पांचों किसानों को पुलिस ने हिरासत में लेकर एसडीएम कोर्ट में पेश किया गया. यहां से उप जिलाधिकारी किशनी ने उन्हें जेल भेज दिया. पूरे जिले में इस बात की चर्चा है, क्योंकि मैनपुरी में पहली बार पराली जलाने के मामले में किसानों को जेल भेजा गया है.

इंस्पेक्टर की कार्रवाई से किसानों में गुस्सा
यूं तो किसान को अन्नदाता कहा जाता है, लेकिन तस्वीर में प्रभारी निरीक्षक अजीत सिंह किसान का कॉलर पकड़कर खींचते हुए ले जा रहे हैं. यह तस्वीर वायरल होने के बाद न सिर्फ किसानों में क्रोध है, बल्कि आम आदमी में भी चर्चा का विषय बना हुआ है. लोगों का कहना है कि अन्नदाता के प्रति पुलिस का यह रवैया बर्दाश्त करने लायक नहीं है. अन्नदाता ही है, जो हर व्यक्ति का पेट भरता है और पुलिस उसी के साथ बर्बरतापूर्वक कार्रवाई करते नजर आती है.
mainpuri stubble
मैनपुरी में पराली जलाने के मामले में प्रशासन लगातार कार्रवाई कर रहा है.




ये किसान भेजे गए जेल
जेल भेजे गए किसानों में भूरे पुत्र राजेंद्र सिंह निवासी नगला अखे, राजेंद्र सिंह पुत्र कोमल सिंह निवासी पृथ्वीपुर, प्रदीप पाल पुत्र रतन सिंह निवासी उजागरपुर, उदयप्रताप पुत्र सोवरन सिंह और रामकैलाश पुत्र लखन सिंह शामिल हैं. आरोप है कि इनके खेत में पराली जलाई गई थी. मौके पर ही पुलिस ने पांचों किसानों को गिरफ्तार किया और एसडीएम कोर्ट में पेश किया. यहां से एसडीएम ने उन्हें जेल भेज दिया. ग्रामीणों का कहना है कि पहली बार पराली जलाने के मामले में किसानों को जेल भेजा गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज