होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /मैनपुरी: D14 गैंग के हिस्ट्रीशीटर अपराधियों पर पुलिस का शिकंजा, करोड़ों की संपत्ति कुर्क

मैनपुरी: D14 गैंग के हिस्ट्रीशीटर अपराधियों पर पुलिस का शिकंजा, करोड़ों की संपत्ति कुर्क

मैनपुरी पुलिस ने अपराधियों पर कसा शिकंजा.

मैनपुरी पुलिस ने अपराधियों पर कसा शिकंजा.

मैनपुरी पुलिस (Mainpuri Police) ने जिले के दो शराब माफिया की कोरोड़ों की संपत्ति को कुर्क कर लिया है.

मैनपुरी. उत्तर प्रदेश में शराब माफिया ( Liquor Mafia) पर शिकंजा कसना शुरू हो गया है. इस बीच, मैनपुरी पुलिस (Mainpuri Police) ने भी शराब माफिया पर शिकंजा कसते हुए कुल दो करोड़ की संपत्ति कुर्क करने के अलावा आलीशान कोठी को सील कर दिया है. पुलिस के मुताबिक, मैनपुरी में सुखवीर सिंह यादव (Sukhvir Singh Yadav) और अजय राज यादव (Ajay Raj Yadav) ने अवैध शराब की तस्करी के जरिये अब तक कई करोड़ की संपत्ति बना ली थी, जिन्‍हें अब किसी भी कीमत पर बख्सा नहीं जाएगा.

पुलिस की कार्रवाही से अपराधियों के होश उड़े
मैनपुरी के अवधनगर में हिस्ट्रीशीटर अपराधी शराब माफिया सुखवीर सिंह यादव और अजय राज यादव की अवैध तरीके से अर्जित की गई करोड़ों की संपत्ति को पुलिस ने जब्त कर लिया गया है. यही नहीं, मैनपुरी पुलिस ने उसकी आलीशान कोठी भी सील कर दी है, जिसमें ये सफेद पोश अपराधी अवैध शराब का कारोबार करते थे. यही नहीं, इन दोनों की शराब कारोबार में जबरदस्‍त धमक भी थी.

एसपी अजय कुमार पांडेय ने कही ये बात
मैनपुरी के एसपी अजय कुमार पांडेय ने बताया कि अब जिले के अपराधियों की खैर नहीं होगी. पुलिस के मुताबिक, हिस्ट्रीशीटर अपराधियों की आलीशान कोठी की कीमत तकरीबन दो करोड़ रुपये है. जबकि शराब माफिया सुखवीर सिंह यादव और अजय राज यादव ने अवैध रूप से कमाई गई संपत्ति से मकान बनाया था, इसलिए प्रशासन ने इसे जब्त कर लिया है. हैरानी की बात है कि इन अपराधियों का एक गैंग चलता है जो मैनपुरी में D14 के नाम से जाना जाता है.

बहरहाल, कानपुर के बिकरू कांड में आठ पुलिस वालों की मौत के बाद यूपी सरकार ने अपराधियों को लेकर पुलिस को सख्‍ती बरतने के निर्देश दिए थे. इसके बाद यूपी में गैंगस्‍टर, हिस्‍ट्रीशीटर और शराब माफिया पर पुलिस का कहर टूट पड़ा है. अब तक प्रदेश के विभिन्‍न जिलों में अपराधियों की करोड़ों की प्रॉपर्टी को जब्‍त किया गया है.

Tags: Chief Minister Yogi Adityanath, Mainpuri S24p21, Up crime news, UP news, UP police

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें