Home /News /uttar-pradesh /

यूपी सरकार ने इलाहाबाद HC को बताया- मैनपुरी नवोदय की छात्रा की मौत मामले में प्रधाना​ध्यापिका को किया गिरफ्तार

यूपी सरकार ने इलाहाबाद HC को बताया- मैनपुरी नवोदय की छात्रा की मौत मामले में प्रधाना​ध्यापिका को किया गिरफ्तार

नवोदय विद्यालय की छात्रा की मौत को लेक​र गुरुवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई हुई.

नवोदय विद्यालय की छात्रा की मौत को लेक​र गुरुवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई हुई.

Allahabad High Court : नवोदय विद्यालय (Navoday Vidhyalay) की छात्रा की मौत (Death of student) को लेक​र गुरुवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में सुनवाई हुई. इस मौके पर राज्य सरकार की ओर से पेश हलफनामे में कहा गया कि स्कूल की प्रधानाध्यापिका (School Principal) को गिरफ्तार कर लिया गया है. साथ ही यह भी बताय गया कि मृतका की मां केस में सहयोग नहीं कर रही है.

अधिक पढ़ें ...

मैनपुरी. जवाहर नवोदय विद्यालय मैनपुरी की छात्रा की मौत मामले में दाखिल जनहित याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में गुरुवार को सुनवाई हुई. मामले की सुनवाई के दौरान राज्य सरकार की ओर से अदालत में हलफनामा दाखिल कर कोर्ट को जानकारी दी गई. राज्य सरकार की ओर से बताया गया कि मैनपुरी छात्रा की मौत मामले में जवाहर नवोदय विद्यालय की प्रधानाध्यापिका को एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया है. इसके साथ ही पीड़िता की मां की नार्को एनालिसिस की अनुमति के लिए अदालत में अर्जी दाखिल की है.

मां नहीं कर रही सहयोग

कोर्ट में जानकारी राज्य सरकार की तरफ से महेंद्र प्रताप सिंह की दी गई. इस जनहित याचिका की सुनवाई चीफ जस्टिस राजेश बिंदल और जस्टिस पीयूष अग्रवाल की खंडपीठ कर रही है. कोर्ट को यह भी बताया गया है कि पीड़िता की मां अपना कोर्ट में बयान दर्ज कराने में सहयोग नहीं कर रही है. कोर्ट ने निचली अदालत को एसआईटी को पीड़िता की मां की नार्को एनालिसिस कराने की अर्जी तय करने का निर्देश दिया है.

22 दिसम्बर को दर्ज होंगे बयान

हाईकोर्ट ने इस मामले में 22 दिसंबर को मजिस्ट्रेट के समक्ष पीड़िता की मां को धारा 164 दंड प्रक्रिया संहिता के तहत अपना बयान दर्ज कराने का भी आदेश दिया है. हालांकि याची का कहना था कि मां बयान दर्ज कराने को तैयार हैं. वकीलों की हड़ताल व अन्य वजह से बयान दर्ज नहीं किया जा सका है. सहयोग न करने का कथन निराधार है. सरकार की तरफ से कहा गया कि एसआईटी हर पहलू पर विवेचना कर रही है. अब मामले की अगली सुनवाई 11जनवरी को होगी.

Tags: Allahabad high court, Jawahar Navodaya Vidayalaya

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर