सिपाही भर्ती 2018: BJP नेता का ऑडियो वायरल, कहा- 7 लाख रुपये चल रहा है रेट

वायरल ऑडियो में अलीपुरखेड़ा के पास असदपुर गांव का प्रधान बताने वाले अमित चौहान नाम का शख्स बीजेपी नेता से सिपाही भर्ती परीक्षा में जुगाड़ की बात कर रहा है.

Munish Tripathi | News18 Uttar Pradesh
Updated: June 18, 2018, 6:12 PM IST
Munish Tripathi | News18 Uttar Pradesh
Updated: June 18, 2018, 6:12 PM IST
यूपी सिपाही भर्ती की लिखित परीक्षा में पास कराने के लिए मैनपुरी जिले के एक बीजेपी नेता का घूस मांगने का ऑडियो इन दिनों वायरल हुआ है. वायरल ऑडियो में बीजेपी के पूर्व मंडल महामंत्री साफ-साफ कह रहे हैं कि इस वक्त भर्ती का रेट क्या है और अभ्यर्थी को क्या-करना होगा. ऑडियो में घूस मांग रहा शख्स खुद को बीजेपी का पूर्व मंडल महामंत्री पृथ्वीपाल सिंह बता रहा है.

वायरल ऑडियो में अलीपुरखेड़ा के पास असदपुर गांव का प्रधान बताने वाले अमित चौहान नाम का शख्स बीजेपी नेता से सिपाही भर्ती परीक्षा में जुगाड़ की बात कर रहा है. जिसके बाद बीजेपी नेता पृथ्वीपाल सिंह बड़ी सफाई से उसे पूरी प्रक्रिया समझाते हैं. वह कहते हैं कि सिपाही भर्ती का रेट 7 लाख रुपये चल रहा है. लड़के का हाईस्कूल, इंटर के सर्टिफिकेट और एडमिट कार्ड की फोटोकॉपी के साथ-साथ 50 हजार रुपये एडवांस देना होगा.

यह भी पढ़ें: शर्मनाक! खाकी का खौफ दिखा सिपाही ने जूतों पर रगड़वाई नाक

अमित चौहान जब यह पूछते हैं कि काम की गारंटी तो हैं न? इसके जवाब में पृथ्वीपाल सिंह कहते हैं, "हां, हां पूरी गारंटी है. पैसे और पेपर दे जाओ."


प्रधान के यह पूछने पर कि क्या अभ्यर्थी को भी परीक्षा में कुछ करना होगा. इस पर जवाब मिलता है कि "मैं जो कह रहा हूं वही करना है. मेरी बात करवाओ लड़के से. पक्की पेन्सिल खरीद ले और सवाल का हल पेन्सिल से करे. अगर उसको एक प्रश्न पता है तो एक ही करे. नहीं पता है तो न करे. गलत जवाब न दे. खाली छोड़ दे. दूसरी बात ये है कि जो पेपर मिलेगा उसका कोड लिखना होता है. वह कॉपी और क्वेश्चन पेपर का कोड भी लिख ले."

यह भी पढ़ें: PM मोदी के दावे पर सवाल उठाता है कोडरा गांव, खंभे लगे पर नहीं पहुंची बिजली

पृथ्वीपाल सिंह कह रहा है कि वह अभी 10-15 लोगों को भर्ती करवा रहे हैं. उनका कहना है कि इस समय किसी नेता या मंत्री की सिफारिश नहीं चल रही है. इसलिए काम तो कर्मचारी और अधिकारी ही करेंगे. योगी राज में मंत्रियों की सिफारिश चल नहीं रही है.

Disclaimer: न्यूज18 इस रिपोर्ट में बीजेपी नेता के आवाज की पुष्टि नहीं करता है. खबर वायरल ऑडियो में बातचीत पर आधारित है. 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर