अस्पताल ने नहीं दिया एंबुलेंस, पत्नी की लाश और बूढ़ी मां को ठेले पर ले जाने पर मजबूर हुआ गरीब

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में एक आदमी अपनी पत्नी का शव और बूढ़ी माँ को ठेले पर अस्पताल से बाहर ले जाने पर मजबूर होना पड़ा

News18India
Updated: March 13, 2018, 8:31 PM IST
News18India
Updated: March 13, 2018, 8:31 PM IST
उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में एक आदमी अपनी पत्नी का शव और बूढ़ी माँ को ठेले पर अस्पताल से बाहर ले जाने पर मजबूर होना पड़ा. आरोप है कि अस्पताल में उनकी पत्नी की मौत हो गई जिसके बाद घर ले जाने के लिए भी अस्पताल प्रशासन ने एंबुलेंस,  देने से इनकार कर दिया.

जानकारी के मुताबिक कन्हैया नाम के इस आदमी की पत्नी को सांस लेने में दिक्कत हुई, जिसके बाद
उसने घर से ऐम्बुलेंस को फ़ोन किया लेकिन एंबुलेंस, नहीं पहुँची.जिसके बाद वो अपनी पत्नी को सब्ज़ी बेचने वाले ठेले पर रखकर अस्पताल पहुँचा किन अस्पताल पहुँचते ही उसकी पत्नी की मौत हो गई
ले

पत्नी की मौत के बाद कन्हैया ने एक बार फिर अस्पताल प्रशासन से ऐम्बुलेंस देने की गुहार लगा लेकिन कहीं भी उसकी सुनवाई नहीं हुई। जिसके बाद मजबूर होकर वो पाँच किलोमीटर तक अपनी पत्नी का शव और बुजुर्ग माँ को ठेले पर बिठाकर अपने घर लौट आया.

पीड़ित परिवार का आरोप है कि अस्ताल में इलाज के दौरान भी डॉक्टरों ने लापरवाही बरती जबकि अस्पताल प्रशासन का दावा है कि महिला की मौत अस्पताल पहुँचने से पहले ही हो चुकी थी. जिला प्रशासन ने मामले की जाँच के आदेश दे दिए हैं.  देखें वीडियो.

 

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर