होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /देवबंद के करीब बड़ा हादसा, सेना की जिप्सी ट्रक में घुसी, कैप्टन समेत 3 जवान घायल

देवबंद के करीब बड़ा हादसा, सेना की जिप्सी ट्रक में घुसी, कैप्टन समेत 3 जवान घायल

देवबंद के करीब सहारनपुर-मुजफ्फरनगर स्टेट हाईवे पर एक बड़ा सड़क हादसा. (सांकेतिक तस्वीर)

देवबंद के करीब सहारनपुर-मुजफ्फरनगर स्टेट हाईवे पर एक बड़ा सड़क हादसा. (सांकेतिक तस्वीर)

देवबंद के करीब सहारनपुर-मुजफ्फरनगर स्टेट हाईवे पर एक बड़ा सड़क हादसा हो गया है. सेना की एक जिप्सी एक ट्रक में घुसने के ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

सड़क हादसा देवबंद के निकट स्थित गांव निहाल खेड़ी के करीब हुआ.
इसमें सेना के कैप्टन रोहिन सहित दो जवान हुए गंभीर रूप से घायल हो गए.
बताया जा रहा है कि सेना के अधिकारी पंजाब से दिल्ली जा रहे थे.

देवबंद. देवबंद के करीब सहारनपुर-मुजफ्फरनगर स्टेट हाईवे पर एक बड़ा सड़क हादसा हो गया है. सेना की एक जिप्सी एक ट्रक में घुसने के कारण एक कैप्टन समेत 3 जवान गंभीर रूप से घायल हो गए. बताया जा रहा है कि ये सड़क हादसा देवबंद के निकट स्थित गांव निहाल खेड़ी के करीब हुआ. इसमें सेना के कैप्टन रोहिन सहित दो जवान हुए गंभीर रूप से घायल हो गए. बताया जा रहा है कि सेना के अधिकारी पंजाब से दिल्ली जा रहे थे.

इस हादसे की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया. सेना की जिप्सी की टक्कर की सूचना मिलने के बाद देवबंद के सीओ समेत आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए. घायल जवानों को सहारनपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. देवबंद पुलिस अब ट्रक चालक की तलाश में जुटी है. फिलहाल अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि इस भीषण सड़क हादसे की वजह क्या थी. इस हादसे के मामले में ट्रक चालक की किसी लापरवाही या गलती का पता उसके पकड़े जाने के बाद ही लग सकता है.

अलीगढ़ः सरकारी स्कूल में कमरा बंद कर 150 बच्चों को जबरन लगाई वैक्सीन, 50 की बिगड़ी तबीयत

यूपी में सड़कों पर हो रही वाहन दुर्घटनाओं की संख्या को घटाने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ की सरकार ने कई नए उपाय करने की घोषणा की है. इसमें ड्राइविंग लाइसेंस के बारे में एक नया नियम भी शामिल किया गया है. उत्तर प्रदेश में अब परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए लोगों को सिमुलेटर टेस्ट से गुजरना होगा. सिमुलेटर ड्राइविंग टेस्ट में सॉफ्टवेयर से जुड़ी मशीन पर बैठकर लोगों को ड्राइविंग टेस्ट देना होता है. सिमुलेटर ड्राइविंग टेस्ट के लिए राज्य के हर जनपद में पहले एक ऑटोमैटिक टेस्टिंग मशीन को लगाया जाएगा. इन मशीनों को पीपीपी मोड पर हर जिले में लगाने की योजना है. इससे लगभग 500 करोड़ के निवेश के साथ ही 1500 से अधिक रोजगार भी पैदा होने की संभावना है.

Tags: Road accident, Saharanpur news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें