‘मुजफ्फरपुर यौन शोषण’ फिर ना हो, इसके लिए मेनका गांधी ने सुझाया रास्ता

मेनका गांधी ने कहा, 'मैंने सभी मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर कहा है कि वे बेसहारा महिलाओं, बुजुर्गों और बच्चों के लिए एक संयुक्त आश्रय स्थल के लिए जमीन दें. अगर एक आश्रय स्थल में सभी होंगे तो इनकी सही ढंग से निगरानी हो सकेगी.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 31, 2018, 10:04 PM IST
‘मुजफ्फरपुर यौन शोषण’ फिर ना हो, इसके लिए मेनका गांधी ने सुझाया रास्ता
केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी(file photo)
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 31, 2018, 10:04 PM IST
यूपी के वृंदावन में केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी, यौन शोषण तो लेकर गंभीर नजर आई. उन्होंने कहा बिहार के मुजफ्फरपुर और देश के कुछ अन्य हिस्सों के बालिका गृहों में यौन शोषण की हालिया घटनाएं फिर ना हो उसके लिए राज्यों को अपने यहां बेसहारा महिलाओं, बुजुर्गों और बच्चों के लिए संयुक्त आश्रय केंद्र बनाने चाहिए.

वृंदावन में विधवा एवं बेसहारा महिलाओं के लिए आश्रय गृह 'कृष्ण कुटीर' का उद्घाटन करने के बाद मेनका ने मीडिया से कहा कि उन्होंने संयुक्त आश्रय गृह को लेकर सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा है.  मेनका गांधी ने कहा, 'मैंने सभी मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर कहा है कि वे बेसहारा महिलाओं, बुजुर्गों और बच्चों के लिए एक संयुक्त आश्रय स्थल के लिए जमीन दें. अगर एक आश्रय स्थल में सभी होंगे तो इनकी सही ढंग से निगरानी हो सकेगी. इससे मुजफ्फरपुर जैसी घटना को रोका जा सकेगा.' इससे पहले मेनका और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 'कृष्ण कुटीर' का उद्घाटन किया.

अखिलेश-शिवपाल की समाजवादी 'महाभारत' में किसके होंगे 'पितामह' मुलायम!

मेनका ने कहा कि महिला, बालिका गृह, बालाश्रय हो या जेल हो सब जगह जीने लायक माहौल देना सरकार की जिम्मेदारी है उनके साथ अमानवीय या जानवरों के जैसा बरताव नहीं होना चाहिये. जैसा कि भायखला जेल में देखने को मिला जहां सेनेटरी नैपकिन मांगने की वजह से उसे बुरी तरह पीटा गया.

यूपी में IPS के बाद अब 12 IAS अफसरों का तबादला

मेनका गांधी ने कहा कि कृष्ण कुटीर उनका स्वप्न था जब वे मंत्री बनी थी. जिसमें वृंदावन जगह तय की गयी। क्योंकि विधवाओं का जीवन बहुत कठिन था. उन्होंने कहा कि इसके अलावा कौशल विकास केंद्र भी स्थापित करने की योजना बनाई गयी है. यहां से अगरबत्तियां जैसे ब्रांडेड प्रोडक्ट बनाये जायेंगे. उन्होंने संयुक्त आश्रय स्थल के लिए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ से लखनऊ और वाराणसी में जमीन उपलब्ध कराने का आग्रह किया जिस पर मुख्यमंत्री ने सहमति जताई.

बीजेपी के 'दलित प्रेम' की काट के लिए मायावती ने इस सिपहसालार को उतारा मैदान में
Loading...
महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की ‘स्वाधार गृह’ योजना के तहत वृंदावन में बनाए गए ‘कृष्ण कुटीर’ में करीब एक हजार विधवाएं रह सकेंगी. इसका निर्माण एनबीसीसी के द्वारा 1.4 हेक्टेयर के क्षेत्र में किया गया है और इस पर 57 करोड़ रुपये का खर्च आया है. इस चार मंजिला इमारत को बुजुर्गों और दिव्यांगों की सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाया गया है. इसमें कौशल-सह-प्रशिक्षण केंद्र भी होगा.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर