'क्रांति रैप' से किसानों को एकजुट करने की कोशिश, देखें जयंत चौधरी का यह VIRAL VIDEO

हाथरस में हुआ था जयंत चौधरी पर लाठीचार्ज
हाथरस में हुआ था जयंत चौधरी पर लाठीचार्ज

रालोद (RLD) का यह क्रांति रैप वीडियो सोशल मीडिया पर खूब शेयर हो रहा है. इसके माध्यम से किसानों को रालोद में वापस लौटने और एकजुट होने का भी आह्वान किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2020, 11:19 AM IST
  • Share this:
मथुरा. मुजफ्फरनगर में हाथरस पुलिस (Hathras Police) द्वारा राष्ट्रीय लोक दल (RLD) के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) और समर्थकों पर लाठीचार्ज के विरोध में हुई महापंचायत के बाद सोमवार को मथुरा में किसान बचाओ महारैली बुलाई गई है. नेशनल हाईवे स्थित बालाजीपुरम मैदान में होने वाली इस रैली में सपा के पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव भी मंच साझा करेंगे. हाथरस कांड में हुए लाठीचार्ज के विरोध में यह रैली बुलाई गई है. रैली से पहले जयंत चौधरी ने अपने ट्विटर हैंडल से एक रैप वीडियो ट्वीट किया है. इस वीडियो के माध्यम से योगी सरकार और पुलिस के खिलाफ किसानों को एकजुट होने का आह्वान किया गया है. इस वीडियो को 'क्रांति' का नाम दिया गया है.

रालोद का यह क्रांति रैप वीडियो सोशल मीडिया पर खूब शेयर हो रहा है. इस रैप वीडियो के माध्यम से किसानों को रालोद में वापस लौटने का भी आह्वान किया गया है. साथ ही कहा गया है कि अब पुलिस से नहीं डरा जाएगा और क्रांति की जाएगी.






दरअसल, हाथरस में हुए लाठीचार्ज की घटना के बाद RLD जहां भावनात्मक रूप से संवेदनशील जाट कार्ड खेलने में जुट गया है, वहीं कृषि कानून को लेकर पश्चिमी क्षेत्र की किसान राजनीति को मथने की तैयारी भी शुरू कर दी गई है. जयंत चौधरी के साथ ही दीपेंद्र हुड्डा, अभय चौटाला और धर्मेंद्र यादव ने भी रैली में हाथरस कांड को छेड़ते हुए किसान बिल का मामला प्रमुखता से उठाया. हरियाणा के नेताओं ने तो किसानों की ही बात प्रमुखता से रखी. सभी ने कृषि कानून को पूरी तरह किसान विरोधी बताते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा. वहीं, हाथरस कांड के जरिये भाजपा के सुशासन के नारे को भी आइना दिखाने का प्रयास किया गया.

मुजफ्फरनगर में रैली पहले से प्रस्तावित थी. हालांकि, इस रैली में तब कृषि कानून को लेकर हुए आंदोलन के तहत दर्ज हुए मुकदमों का विरोध करना था. लेकिन, 4 अक्तूबर को जयंत चौधरी पर हाथरस में हुए लाठीचार्ज ने पूरा माहौल ही बदल दिया और मुजफ्फरनगर की यह रैली पश्चिम के एक बड़े क्षेत्र की रैली बन गई. इस रैली में आई भीड़ का उत्साह ही माना जाएगा कि जयंत चौधरी ने मंच से 12 अक्तूबर को मथुरा में भी लोकतंत्र बचाओ रैली की घोषणा कर डाली.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज