Assembly Banner 2021

ब्रज में उड़ने लगा रंग-गुलाल, ये रहा वृंदावन-मथुरा से लेकर बरसाना की लठामार होली का पूरा शेड्यूल

ब्रज में होली का उत्‍सव करीब डेढ़ महीने तक चलता है. फोटो. अंशुमान नंदी.

ब्रज में होली का उत्‍सव करीब डेढ़ महीने तक चलता है. फोटो. अंशुमान नंदी.

ब्रज की होली विश्‍व प्रसिद्ध है. मथुरा-वृंदावन के साथ ही बरसाना की लठामार होली, नंदगांव और दाऊजी का हुरंगा, दहकती होलिका से निकलता फालैन का पंडा, मुखराई का चरकुला नृत्‍य देखने के लिए दूर-दूर से श्रद्धालू ब्रज क्षेत्र में पहुंचते हैं. इस बार ये सभी होली कार्यक्रम 11 मार्च से एक अप्रैल तक चलेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 2:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. बसंत पंचमी के साथ ही ब्रज (Braj) में अबीर-गुलाल उड़ना शुरू हो जाता है. मंदिरों में बरसता रंग, हारमोनियम और ढोलक की थाप पर गाए जाते फाग के साथ ही दूर-दूर से आए श्रद्धालुओं का उत्‍साह इस मौसम को आनंद से भर देता है. ऐसे में पूरे एक महीने तक ब्रज की अलग-अलग जगहों पर मनाई जाने वाली होली की तैयारी भी शुरू हो जाती है.

ब्रज की प्रसिद्ध होली (Holi) का पूरा शेड्यूल भी आ गया है. जिसमें मथुरा की श्रीकृष्‍ण जन्मभूमि (Shri Krishna Janmbhumi) की होली से लेकर बरसाना (Barsana) की प्रसिद्ध लठामार होली (Latthamar holi), वृंदावन, नंदगांव की होली, गोकुल की छड़ीमार होली और फालैन का हुरंगा शामिल है. न्‍यूज 18 हिंदी ब्रज की अनोखी होली का यहां पूरा शेड्यूल दे रहा है. जिसके अनुसार आप भी अपने परिवार के साथ ब्रज की होली (Braj ki Holi) का आनंद उठा सकते हैं.

ब्रज के मंदिरों में बसंत पंचमी से ही रंग और अबीर उड़ रहा है.
ब्रज के मंदिरों में बसंत पंचमी से ही रंग और अबीर उड़ रहा है. photo-fb




कहां-कहां और कब है ब्रज में होली
16 फरवरी को बसंत पंचमी के दिन से ही ब्रज के सभी मंदिरों में रंग और अबीर की शुरुआत हो जाती है. मथुरा-वृंदावन, गोवर्धन, बरसाना सहित ब्रज के सभी मंदिरों में भगवान भक्‍तों के साथ होली खेलना शुरू कर देते हैं. मंदिरों के सेवायत श्रद्धालुओं पर अबीर उड़ाते हैं. इसके बाद महाशिवरात्रि (Mahashivratri) से होली का विधिवत कार्यक्रम शुरू हो जाता है.

11 मार्च        महाशिवरात्रि पर सभी मंदिरों में होली

16 मार्च        रमणरेती में होली कार्यक्रम

22 मार्च        फाग आमंत्रण उत्‍सव, नंदगांव में

22 मार्च        लड्डू होली, बरसाना

23 मार्च        लठ्ठमार होली, बरसाना

24 मार्च        लठ्ठमार होली, नंदगांव

25 मार्च,       रंगभरनी एकादशी, वृंदावन में रंगभरी शोभायात्रा

25 मार्च        श्री कृष्ण जन्‍मभूमि मथुरा में होली कार्यक्रम

25 मार्च        द्वारकाधीश मंदिर मथुरा में होली

27 मार्च        छड़ीमार होली, गोकुल

29 मार्च        होलिका दहन, सभी जगहों पर

29 मार्च,       दहकती होलिका से पंडा का निकलना, फालैन

29 मार्च        चतुर्वेदी समाज का डोला, मथुरा

30 मार्च        धुलेंडी

31 मार्च        दाऊजी का हुरंगा, बल्‍देव जी

31 मार्च        हुरंगा, जाव

31 मार्च        हुरंगा, नंदगांव

31 मार्च        चरकुला नृत्‍य, मुखराई

1 अप्रैल        हुरंगा, बठैन

1 अप्रैल        हुरंगा, गिडोह

braj ki holi, barsana holi, nandgaon huranga
ब्रज में नंदगांव, बल्‍देव, बठैन, जाव और गिडोह का हुरंगा बहुत प्रसिद्ध है. Photo-Pankaj Narshana


ब्रज में डेढ़ महीने चलता है होली का कार्यक्रम

ब्रजभाषी समाज के राष्ट्रीय अध्‍यक्ष हरीश कटारा कहते हैं कि ब्रज का रंग महोत्‍सव सबसे अलग है. ब्रज में होली का कार्यक्रम करीब डेढ़ महीने तक चलता है. इस दौरान यहां के मंदिरों में रंगीन नजारा होता है. यहां के मंदिरों में प्राकृतिक फूलों से रंग तैयार किया जाता है और श्रद्धालुओं पर बरसाया जाता है. फिलहाल वृंदावन में कुंभ भी लगा हुआ है ऐसे में भक्‍तों के लिए होली के साथ ही कुंभ देखने का भी मौका है. यहां कुंभ 25 मार्च तक चलेगा. 25 मार्च को कुंभ का आखिरी शाही स्‍नान है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज