लाइव टीवी

मथुरा: जमीन विवाद में पिता बना कंस, 3 एकड़ भूमि के लिए बेटे को हवा में उठाकर फेंका

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 5, 2019, 1:47 PM IST
मथुरा: जमीन विवाद में पिता बना कंस, 3 एकड़ भूमि के लिए बेटे को हवा में उठाकर फेंका
पुलिस के सामने ही मथुरा में एक पिता बन गया कंस

पति की हैवानियत देख मां की ममता जाग गयी और उसने अपने कलेजे के टुकड़े को पकड़ लिया. यदि वो समय रहते ऐसा नहीं करती तो जमीन के टुकड़े के लिए मासूम को जान चली जाती.

  • Share this:
मथुरा. कान्हा (Kanha) की नगरी मथुरा (Mathura) में एक पिता की क्रूरता की दिल दहलाने वाली तस्वीरें सामने आई हैं. जमीन विवाद में प्रशासनिक अधिकारी के सामने ही क्रूरता और मानवता को शर्मसार करने वाला खेल खेला जाता रहा, लेकिन मौके पर मौजूद पुलिस तमाशबीन बनी रही. यह घटना मांट थाना क्षेत्र के मांट राजा खादर की है. दरअसल यह विचलित करने वाली घटना उस समय की है जब सहायक भूलेख अधिकारी (ARO) राजीव उपाध्याय खादर की तीन एकड़ जमीन को खाली कराने गए थे. राजस्व टीम के साथ गांव का ही एक युवक भी पहुंचा था.

बच्चे को जमीन पर पटकर मारने का प्रयास

साथ आए इस युवक को देखकर जमीन पर कब्जा जमाने वाले वीरी सिंह का पारा चढ़ गया. इसके बाद वीरी सिंह और उसके परिजनों का गांव के ही रहने वाले उस युवक से कहासुनी और मारपीट हो गई. झगड़े के दौरान वीरी सिंह अपना आपा खो बैठा और बिना कुछ सोचे समझे उसने अपनी गोद में रखे बेटे को जमीन पर पटक कर मारने का प्रयास किया. ये कंस पिता इतने पर ही नहीं रूका, उसने मासूम बच्चे का पैर पकड़कर एक बार फिर उसे हवा में घुमाया ओर उसे मारने का प्रयास किया.



ARO ने दर्ज नहीं कराई पुलिस में रिपोर्ट

पति की हैवानियत देख मां की ममता जाग गयी और उसने अपने कलेजे के टुकड़े को पकड़ लिया. यदि वो समय रहते ऐसा नहीं करती तो जमीन के टुकड़े के लिए मासूम को जान चली जाती. इस दौरान जिसने भी यह दृश्य देखा वो हैरान रह गया. हंगामे और मारपीट के दौरान वहां मौजूद मांट पुलिस खामोश रखकहर देखती रही. इस घटना के दौरान प्रसासनिक लापरवाही तब और भी उजागर हुई जब ARO ने इस मामले में कोई लिखित शिकायत थाने में नहीं दी. सहायक भूलेख अधिकारी राजीव उपाध्याय खुद इस बात को कह रहे है कि उनके साथ मारपीट नहीं हुई सिर्फ गाली-गलौज हुई है.

पुलिस ने किया 151 में चालान
Loading...

वहीं पुलिस ने आरोपी वीरी सिंह सहित तीन लोगों को शांति भंग करने के आरोप में धारा 151 में ही कार्रवाई कर मामले को रफा-दफा करने का प्रयास किया. फिलहाल इस मामले में जिलाधिकारी (डीएम) सर्वज्ञ राम मिश्र ने बताया है कि इस मामले की सारी जांच एडीएम  प्रसाशन को सौंप दी गई है. जो हर पहलू पर जांच कर रिपोर्ट देंगे. एडीएम के मुताबिक जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें:

मुरादाबाद: बैंड-बाजे के साथ निकली गौ और नंदी की बारात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मथुरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 12:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...