PiX: जानिए, लट्ठामार होली के लिए कैसे तैयार होते हैं लट्ठ
Mathura News in Hindi

PiX: जानिए, लट्ठामार होली के लिए कैसे तैयार होते हैं लट्ठ
बरसाने की विश्‍वप्रसिद्ध अनूठी लठ्ठामार होली आज है और बरसाने की हुरियारिने भी नंदगांव के हुरियारों की अच्छी तरह से खबर लेने के लिए तैयार है। नंदगांव के हुरियारों पर बरसाने की हुरियारिने भी प्रेम-पगी लाठियां बरसाने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

बरसाने की विश्‍वप्रसिद्ध अनूठी लठ्ठामार होली आज है और बरसाने की हुरियारिने भी नंदगांव के हुरियारों की अच्छी तरह से खबर लेने के लिए तैयार है। नंदगांव के हुरियारों पर बरसाने की हुरियारिने भी प्रेम-पगी लाठियां बरसाने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

  • Share this:
बरसाने की विश्‍वप्रसिद्ध अनूठी लठ्ठामार होली आज है और बरसाने की हुरियारिने भी नंदगांव के हुरियारों की अच्छी तरह से खबर लेने के लिए तैयार है। नंदगांव के हुरियारों पर बरसाने की हुरियारिने भी प्रेम-पगी लाठियां बरसाने के लिए पूरी तरह से तैयार है।



एक ओर जहां हुरियारिने लाठियों पर तेल लगा रही है तो दूसरी ओर नंदगांव के हुरियारे भी अपनी ढालों को तैयार कर रहे हैं। हाथों में लठ्ठ लेकर उसमें तेल लगाती इन महिलाओं को देखकर शायद आप सोच रहे होंगे कि शायद ये हुरियारिनें इन लाठियों को किसी लड़ाई के लिए तैयार कर रही हैं।




दरअसल ये महिलाएं इन लाठियों को ब्रिज की विश्‍वप्रसिद्ध लठ्ठामार होली खेलने के लिए तैयार कर रही हैं, क्योंकि बरसाने की हुरियारिने इन प्रेम पगी लाठियों से नंदगांव के हुरियारों की जमकर खबर लेंगी। लठ्ठामार होली खेलने के लिए ये अपने उन लहंगों और ओढ़िनी को भी तैयार कर रही हैं ताकि ये इन कपड़ों में सजधज कर होली के दिन घर से बाहर निकले।



ये हुरियारने राधा-रानी की गोपी के रुप को साकार करके होली खेलने का आनंद लेती हैं। बरसाने की विश्‍वप्रसिद्ध लठ्ठामार होली खेलने वाले हुरियारों और हुरियारिनों के लिए अलग-अलग परम्परागत पोशाक होती हैं। हुरियारे इस दिन धोती, बगलबंदी और सिर पर पगड़ी पहनने के साथ हाथों में ढाल लेकर चलते हैं।



बरसाने की लठ्ठामार होली के लिए हुरियारे और हुरियारिने एक माह पहले से ही इसकी तैयारी करते हैं और खाने-पीने पर विशेष ध्यान देते हैं। लठ्ठामार होली के दिन नंदगांव के हुरियारे होली खेलने से पहले बरसाना में राधारानी के मंदिर में दर्शन करते हैं और वहीं उन पर समाज गायन के बाद टेसू के फूलों से बने रंग और गुलाल डाला जाता है। मंदिर प्रबंधन की तरफ से भी बरसाने की लठ्ठामार होली के लिए सभी तैयारियां पहले से कर ली गई हैं।



आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading