होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /वृंदावन में कान्हा की हो गई बनारस की स्नेहा, जानें कैसे भगवान को पति मानकर किया करवा चौथ का व्रत

वृंदावन में कान्हा की हो गई बनारस की स्नेहा, जानें कैसे भगवान को पति मानकर किया करवा चौथ का व्रत

भगवान श्रीकृष्ण से विवाह करने वाली स्नेहा आनंद की कहानी जानें.

भगवान श्रीकृष्ण से विवाह करने वाली स्नेहा आनंद की कहानी जानें.

विवाह जन्म जन्मांतर का रिश्ता होता है और स्नेहा ने जन्म-जन्मांतर के फेर से मुक्त होने के लिए भगवान श्रीकृष्ण से प्रेम औ ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट – चंदन सैनी

मथुरा. क्या इसे आप आधुनिक समय की मीरा की कहानी कहेंगे? भगवान कृष्ण की प्रेमलीलाओं की स्थली कहे जाने वाले वृंदावन में इस करवा चौथ (KARWA CHAUTH) के पर्व पर एक महिला ने कान्हा के लिए कठिन व्रत रखा. असल में दो साल पहले ‘जाके सिर मोर मुकुट मेरो पति सोई’ की तर्ज़ पर श्रीकृष्ण से शादी भी रचा चुकी इस महिला ने आजीवन श्रीकृष्ण की पत्नी बनकर रहने की बात भी कही. भगवान को पति मान लेने वाली यह महिला मूलत: बनारस की रहने वाली स्नेहा आनंद हैं.

सुहागिनों के लिए सबसे खास त्योहारों में से एक होता है करवा चौथ. इस दिन सुहागिन महिलाएं पति की लंबी उम्र के लिए दिन भर निर्जला व्रत रखती हैं और देर शाम चांद के साथ पति का दीदार कर व्रत तोड़ती हैं. इस दिन सोलह सिंगार कर सुहागिनें शिव-पार्वती समेत कई देवी-देवताओं की पूजा अर्चना कर अखंड सौभाग्य की प्रार्थना करती हैं. दो दिन पहले करवा चौथ के त्योहार पर वृंदावन में एक अनूठा मामला देखने को मिला. कृष्ण के प्रेम में दीवानी स्नेहा ने 2020 में भगवान कृष्ण के साथ विवाह कर उन्हें पति मान लिया है. स्नेहा ने इस साल भगवान के लिए निर्जला व्रत रखा और कान्हा के लिए प्रार्थना की.

कौन हैं श्रीकृष्ण की यह दीवानी?

इसके पीछे स्नेहा कहानी बताती हैं कि कोविड काल में अचानक कहीं भगवान कृष्ण की एक प्रतिमा मिली. उस प्रतिमा से स्नेहा को इतनी मोहब्बत हुई कि नवम्बर 2020 में भगवान कृष्ण से ही शादी कर ली. वृंदावन के वंशीवट पर स्नेहा ने भगवान कृष्ण के साथ 7 फेरे लिए और कान्हा को पति मान लिया. दरअसल स्नेहा 5 साल पहले भगवान के दर्शन करने वृंदावन आई थीं. यहां उन्होंने इस्कॉन मंदिर में भगवान के दर्शन किए. यहां उनक मन ऐसा लगा कि फिर यहां से जाने का मन न हुआ.

हरिद्वार में पतंजलि योगपीठ में 7 सालों तक योगा टीचर रहीं स्नेहा वृंदावन की होकर रह गईं. 30 वर्षीय स्नेहा ने बनारस इंटर कॉलेज के बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी से पहले ग्रेजुएशन और फिर एमबीए की पढ़ाई भी पूरी कर चुकी हैं.

स्नेहा के लिए यह है आखिरी जन्म!

भगवान कृष्ण को पति मानने वाली स्नेहा ने NEWS 18 LOCAL से बातचीत में बताया कि भगवान कृष्ण से उनका जन्म जन्मांतर का रिश्ता है. यह रिश्ता तब पूरा हुआ, जब वह वृंदावन आईं. भगवान ही एक ऐसे पति हैं, जिनसे आत्मा का रिश्ता जुड़ा है. स्नेहा ने बताया उन्हें यह जन्म अंतिम बनाना था इसलिए उन्होंने सोचा कि ठाकुर से अच्छा पति कोई नहीं हो सकता. इस तरह के विचारों के बाद उन्होंने रीति रिवाज से भगवान के साथ शादी भी कर ली.

Tags: Karva Chauth, Lord krishna, Mathura news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें