Home /News /uttar-pradesh /

'केंद्र में मोदी प्रदेश में योगी, अब मंदिर नहीं बनेगा तो कब बनेगा'

'केंद्र में मोदी प्रदेश में योगी, अब मंदिर नहीं बनेगा तो कब बनेगा'

नृत्यगोपाल दास ने कहा कि हम शियाओं को धन्यवाद देते हैं कि मंदिर के पक्ष में आ गए हैं.

    उत्तर प्रदेश के मथुरा में आए राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष नृत्यगोपाल दास ने राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया. गोपाल दास ने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि केंद्र की सरकार में मोदी हैं, प्रदेश में योगी की सरकार है, ऐसे में अब मंदिर नहीं बनेगा तो कब बनेगा. उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि पर पहले भी मंदिर था, आज भी मंदिर है और आगे भी मंदिर ही रहेगा.

    राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास गोकुल के रमणरेती आश्रम गुरु शरणानंद महाराज के 87वां वार्षिक गोपाल जयंती कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे. वहां मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए नृत्यगोपाल दास ने कहा कि जब केंद्र में मोदी और प्रदेश में योगी हैं तो अब किसी की दाल गलने वाली नहीं है.

    राममंदिर को लेकर होने वाली बयानबाजी पर महंत ने कहा कि यह लोग तो केवल अखबारों में अपना नाम आने के लिए इधर-उधर की बातें करते हैं. अब तो मोदी के रहते हुए केवल मंदिर ही बनाया जाएगा और कोई दूसरा विकल्प नहीं है. राममंदिर पर दूसरा समझौता भी नहीं है. वहां पहले भी मंदिर था, आज भी मंदिर है और आगे भी मंदिर ही रहेगा, दूसरे विकल्प का प्रश्न ही नहीं उठता.

    रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष ने कहा कि किसी से कोई समझौता नहीं किया जाएगा. हम लोग कुछ गलत काम नहीं कर रहे हैं. हमारा केवल एक ही लक्ष्य है, राम मंदिर का भव्य निर्माण. महंत न कहा कि योगी और मोदी के कार्यकाल में अयोध्या में भव्य मंदिर का निर्माण होगा. मुस्लिम पक्ष के विरोध के सवाल पर नृत्यगोपाल दास ने कहा कि हमेशा से ही दो पक्ष रहे हैं, जो शिया मुसलमान हैं वो मंदिर के पक्ष में है. जबकि सुन्नी इसके विरोध में है. सुन्नी राम मंदिर का विरोध करते रहें, हम शियाओं को धन्यवाद देते हैं कि मंदिर के पक्ष में आ गए हैं.

    Tags: Ram janam bhumi, मथुरा

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर