Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    मथुरा: 7 महीने बाद खुला बांके बिहारी का कपाट, कोरोना गाइडलाइन के बीच दर्शन को पहुंचे भक्त

    मथुरा में भगवान कृष्ण के दर्शन के लिए भक्त पहुंच रहे हैं. सांकेतिक फोटो.
    मथुरा में भगवान कृष्ण के दर्शन के लिए भक्त पहुंच रहे हैं. सांकेतिक फोटो.

    उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मथुरा (Mathura) जिला प्रशासन एवं मंदिर प्रबंध तंत्र के आपसी सामंजस्य के बाद भगवान बांके बिहारी के कपाट 7 महीने बाद भक्तों के लिए खुल गए हैं.

    • Share this:
    मथुरा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मथुरा (Mathura) जिला प्रशासन एवं मंदिर प्रबंध तंत्र के आपसी सामंजस्य के बाद भगवान बांके बिहारी के कपाट 7 महीने बाद भक्तों के लिए खुल गए हैं.  कोरोना काल में बंद हुए मंदिर के कपाट 17 अक्टूबर को न्यायालय के आदेश के बाद खोले गए थे, लेकिन भीड़ के दबाव के चलते कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन न होने के कारण मंदिर के कपाट 19 तारीख को आम भक्तों के लिए एक बार पुनः बंद कर दिए गए थे, जिसको लेकर वृंदावन के स्थानीय लोगों साधु-संतों के साथ-साथ कृष्ण भक्तों में काफी उबाल था और इसी को लेकर लगातार धरना प्रदर्शन विरोध तो जारी था ही, लेकिन इसी बीच कुछ कृष्ण भक्तों ने न्यायालय में भी वाद दायर कर भगवान बांके बिहारी के कपाट जल्द से जल्द खोले जाने का आग्रह न्यायालय से किया.

    न्यायालय ने वादों के निस्तारण के दौरान कहा कि न्यायालय पूर्व में ही 15 अक्टूबर को मंदिर को खोले जाने के आदेश दे चुका है, जिसमें कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन कराने का भी अदालत ने निर्देश दिया था. किसी भी मामले में एक बार आदेश होने के बाद पुनः उस पर आदेश करना न्याय संगत नहीं है. लिहाजा उसी आदेश को अनुसरण करते हुए मंदिर प्रबंधन को तत्काल मंदिर खोलने के आदेश 23 अक्टूबर को दिए थे. न्यायालय के इसी आदेश के बाद जिला प्रशासन एवं प्रबंधन में हड़कंप मच गया और उन्होंने लगातार मीटिंग और व्यवस्था को करते हुए 25 अक्टूबर को भगवान बांके बिहारी के कपाट खुलने का ऐलान किया था.

    कोविड की गाइडलाइन का पालन
    कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन पूरी तरीके से होता हुआ दिखाई दे रहा है. इस संबंध में मंदिर प्रबंधन ने बताया कि व्यवस्थाओं को कोर्ट के आदेश के मुताबिक रखा गया है. दर्शन के लिए ऑनलाइन व्यवस्था की गई है साथ ही मंदिर और मंदिर के बाहर गोल घेरे बनाए गए हैं, जिसमें भक्त खड़े हुए हैं और अपने दर्शनों के इंतजार कर रहे हैं. मंदिर प्रबंध तंत्र के मुनीश शर्मा ने बताया कि कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन कराते हुए ही व्यवस्थाएं हैं और उसी के मुताबिक भक्तों को दर्शन होंगे मंदिर की व्यवस्थाओं को देखने के लिए सुबह जिलाधिकारी और एसएसपी मौके पर पहुंचे और उन्होंने अधीनस्थों को बेहतर व्यवस्था के साथ भक्तों को दर्शन करने के लिए उचित कदम उठाने के निर्देश अपने अधीनस्थों को दिए भगवान के भक्तों की भीड़ अधिक होने के चलते भारी संख्या में पुलिस बल भी मंदिर और आसपास में तैनात है जो भक्तों को सुगमता के साथ दर्शन करा रहा है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज