Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    मथुरा: बांके बिहारी मंदिर को खोलने के लिए अदालत पहुंचे श्रद्धालु, दाखिल की अलग-अलग याचिकाएं

     मंदिर के प्रबंधक मुनीष शर्मा का कहना है कि अब केवल मंदिर की वेबसाइट पर पंजीकरण कराने वाले दर्शनार्थियों को ही क्रमवार दर्शन कराए जाएंगे.
    मंदिर के प्रबंधक मुनीष शर्मा का कहना है कि अब केवल मंदिर की वेबसाइट पर पंजीकरण कराने वाले दर्शनार्थियों को ही क्रमवार दर्शन कराए जाएंगे.

    याचिकाकर्ता एनपी सिंह (Petitioner NP Singh) ने कहा कि देश और दुनिया में ठाकुर बांके बिहारी के बड़ी संख्या में भक्त मौजूद हैं. दो दिन दर्शन के लिए मंदिर के पट खोलकर मंदिर प्रबंधन ने राहत प्रदान की थी.

    • Share this:
    मथुरा. वृन्दावन के ठाकुर बांके बिहारी मंदिर (Banke Bihari Temple) को खोलने के लिए दीवानी अदालत (Civil court) में याचिकाएं दाखिल की गई हैं. तीन श्रद्धालुओं ने दर्शनों के लिए मंदिर खोलने का अनुरोध करते हुए सोमवार को दो अलग-अलग याचिकाएं दाखिल (Filing Petitions) की हैं. कोरोना वायरस (Corona virus) महामारी के चलते लॉकडाउन लगने के बाद से बंद बांके बिहार मंदिर को शनिवार को भक्तों के लिए खोला गया था. लेकिन इस दौरान अव्यवस्थाओं तथा अफरा-तफरी के कारण मंदिर प्रबंधन को पुनः मंदिर बंद करने का निर्णय लेना पड़ा. ऐसे में महज दो दिन मंदिर खोले जाने के बाद उसे अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया.

    अब भक्तों ने मंदिर में दर्शन की अनुमति के लिए न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है. सोमवार को इस संबंध में मथुरा सिविल जज जूनियर डिवीजन के यहां दो अलग-अलग याचिकाएं दायर की गईं. दोनों ही याचिकाओं में मंदिर को खोलने का निर्देश देने और नियमित दर्शन की अनुमति देने की प्रार्थना की गयी है. एक याचिका अधिवक्ता एनपी सिंह और राजेंद्र माहेश्वरी की ओर से दाखिल की गई है तथा दूसरी याचिका श्रद्धालु हिमांशु गोस्वामी की ओर से दाखिल की गई है.

    देश और दुनिया में ठाकुर बांके बिहारी के बड़ी संख्या में भक्त मौजूद हैं
    याचिकाकर्ता एनपी सिंह ने कहा, ‘‘देश और दुनिया में ठाकुर बांके बिहारी के बड़ी संख्या में भक्त मौजूद हैं. दो दिन दर्शन के लिए मंदिर के पट खोलकर मंदिर प्रबंधन ने राहत प्रदान की थी, लेकिन मनमाने तरीके से मंदिर को फिर बंद कर दिया गया है. न्यायालय से अपील की गयी है कि अधिकारियों को मंदिर के पट खोलने के आदेश दें.’’ याचिकाकर्ता माहेश्वरी ने कहा, ‘‘यह मंदिर देश में सर्वाधिक भक्तों द्वारा दर्शन करने वाले मंदिरों में शामिल है. वृन्दावन में तो रोजगार का माध्यम भी बांके बिहारी ही हैं. मंदिर के न खुलने से असंख्य लोगों की रोजी-रोटी संकट में पड़ गई है.  न्यायालय से प्रार्थना है कि प्रशासन को कोविड-19 की रोकथाम संबंधी व्यवस्थाओं के साथ मंदिर खोलने के निर्देश दिये जाएं.’’
     इन दर्शनार्थियों को ही क्रमवार दर्शन कराए जाएंगे


    इस संबंध में मंदिर के प्रबंधक मुनीष शर्मा का कहना है कि अब केवल मंदिर की वेबसाइट पर पंजीकरण कराने वाले दर्शनार्थियों को ही क्रमवार दर्शन कराए जाएंगे. उन्होंने बताया कि इस बार मंदिर खोलने से पूर्व भी यह व्यवस्था लागू की गई थी, किंतु एक साथ हजारों भक्तों द्वारा आवेदन किए जाने से वेबसाइट ने काम करना बंद कर दिया था.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज