महापंचायत में CM योगी पर बरसे जयंत चौधरी, कहा- सरकार उखाड़ फेंकने तक चैन नहीं

राष्ट्रीय लोक दल के मथुरा में बुलाए महापंचायत में यूपी समेत अन्य राज्यों से हजारों की संख्या में आए किसानों ने हिस्सा लिया
राष्ट्रीय लोक दल के मथुरा में बुलाए महापंचायत में यूपी समेत अन्य राज्यों से हजारों की संख्या में आए किसानों ने हिस्सा लिया

महापंचायत को संबोधित करते हुए जयंत चौधरी ने कहा, ‘यह सरकार अपराधियों पर से नियंत्रण खो चुकी है. इसे दोबारा सत्ता में नहीं आने देना चाहिए.' उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को संबोधित करते हुए नारा दिया, 'यूपी पुलिस से बैर नहीं, बाबा तेरी खैर नहीं'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2020, 11:40 PM IST
  • Share this:
मथुरा. राष्ट्रीय लोकदल (RLD) के उपाध्यक्ष और पूर्व सांसद जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) ने हाथरस की घटना (Hathras Incident) और कृषि कानूनों के विरोध में मथुरा के बालाजीपुरम इलाके में हाईवे किनारे महापंचायत (Mahapanchayat) का आयोजन किया. महापंचायत में उन्होंने उत्तर प्रदेश से योगी आदित्यनाथ सरकार को उखाड़ फेंकने तक चैन से नहीं बैठने की घोषणा की. सोमवार को हुए महापंचायत में प्रदेश से आरएलडी और समाजवादी पार्टी, पंजाब से अकाली दल, हरियाणा से आईएनएलडी आदि राजनीतिक दलों के नेताओं ने हिस्सा लिया और तय किया कि उत्तर प्रदेश से योगी सरकार को अगली बार सत्ता पर काबिज नहीं होने देंगे. साथ ही केंद्र सरकार द्वारा लागू किसान विरोधी कानूनों खिलाफ लड़ाई जारी रखेंगे.

महापंचायत में जुटे किसानों को संबोधित करते हुए जयंत चौधरी ने कहा, ‘यह सरकार अपराधियों पर से नियंत्रण खो चुकी है. इसे दोबारा सत्ता में नहीं आने देना चाहिए, इसलिए यदि आप अपने हक के लिए लड़ाई लड़ने को तैयार हैं, तो मैं आपके लिए लाठी खाने को तैयार हूं.’ उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को संबोधित करते हुए नारा दिया, 'यूपी पुलिस से बैर नहीं, बाबा तेरी खैर नहीं.'


वहीं समाजवादी पार्टी के सांसद धर्मेंद्र यादव ने किसानों की दुर्दशा का जिक्र करते हुए कहा कि उकी पार्टी भी किसान हितैषी हर लड़ाई में साथ देने को तैयार है. उन्होंने हाथरस में कथित रूप से गैंगरेप पीड़िता के परिवार को न्याय दिलाने की मांग कर रहे जयंत चौधरी और आरजेडी के अन्य नेताओं पर पुलिस की लाठीचार्ज की कार्रवाई की निंदा करते हुए समय आने पर इसका बदला लिए जाने की बात कही.



महापंचायत में अकाली दल के जसमीत सिंह बराड़ और आईएनएलडी के अजय चौटाला ने भी कृषि संबंधी कानूनों को किसान विरोधी बताते हुए उनका पुरजोर विरोध किए जाने का आह्वान किया.

महापंचायत में उत्तर प्रदेश के अलावा राजस्थान और हरियाणा से भी बड़ी संख्या में आए किसानों ने हिस्सा लिया. (भाषा से इनपुट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज