मथुरा के राजकीय शिशु गृह में फूटा कोरोना बम, 22 बच्चे मिले संक्रमित

मथुरा राजकीय शिशु गृह के 22 बच्चे कोरोना संक्रमित

Mathura Child Shelter Home: 6 स्टाफ सहित 22 शिशुओं के कोरोना पोजिएव आने के बाद डॉक्टर्स की टीम ने विजिट कर सभी का चिकित्सकीय परीक्षण कर उन्हें होम आइसोलेट कर दिया गया है.

  • Share this:
मथुरा. कोरोना वायरस (Corona Virus) अब बच्चों पर भी हमला कर रहा है. मथुरा (Mathura) के बाल सुधार गृह के बाद अब राजकीय बाल शिशु गृह (Child Shelter Home) में कोरोना बम फूटा है. राजकीय बाल शिशु गृह में 22 बच्चे कोरोना की चपेट में आ गए हैं. इससे स्वास्थ्य विभाग में एक बार फिर हड़़कंप मच गया है. 6 स्टाफ सहित 22 शिशुओं के कोरोना पोजिएव आने के बाद डॉक्टर्स की टीम ने विजिट कर सभी का चिकित्सकीय परीक्षण कर उन्हें होम आइसोलेट कर दिया गया है.

चिकित्सा विभाग ने सिविल लाइन क्षेत्रान्तर्गत राजकीय संप्रेक्षण गृह और राजकीय शिशु गृह में रेंडम सैंपल सलेक्शन किए थे. इसमें राजकीय संप्रेक्षण गृह के 50  बच्चों की रिपोर्ट पूर्व में ही पॉजिटिव आ गई थी, जबकि शिशु गृह के 22 बच्चों की पॉजिटिव रिपोर्ट शनिवार को स्वास्थ्य विभाग को प्राप्त हुई. यही नहीं शिशु गृह के 6 कर्मचारी भी पॉजिटिव मिले हैं. इनमें दो पुरुष कर्मचारी हैं, जबकि चार महिला आया हैं.

संक्रमित बच्चों को किया गया अलग
कोरोना संक्रमित रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद इन्हें अन्य बच्चों से अलग रखने की व्यवस्था कर दी गई है. कोरोना संक्रमित बच्चों के लिए दो कमरों में अलग से व्यवस्था कर दी गई है, जबकि उनके शौचालय और बाथरूम भी अलग कर दिए गए हैं. दूसरी ओर संक्रमणविहीन बच्चों के लिए  अलग कमरे, शौचालय और बाथरूम की व्यवस्था कर दी गई है.

जनपद में 17 हजार केस
गौरतलब है कि शनिवार को जिले में 333 कोरोना संक्रमण के नए मामले सामने आए. सीएमओ ऑफिस में फिर दो लोग कोरोना की चपेट में आए हैं. सीएमओ ऑफिस में तैनात जिला कार्यक्रम प्रबंधक की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बावजूद सीएमओ डॉ. रचना गुप्ता द्वारा उन्हें अ‍ॅफिस बुलाया गया था.
आपको बता दें कि विगत 2 दिन पूर्व भी बाल संप्रेक्षण ग्रह में 50 बच्चों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी. इसके बाद सभी बच्चों को आइसोलेट किया गया है. वहीं जनपद में पॉजिटिव केसों की संख्या 17 हजार तक पहुंच चुकी है.