Home /News /uttar-pradesh /

राम मंदिर मुद्दे पर बोले पुरी के शंकराचार्य, पीएम मोदी ने नहीं की उनसे कोई बात

राम मंदिर मुद्दे पर बोले पुरी के शंकराचार्य, पीएम मोदी ने नहीं की उनसे कोई बात

गोवर्धनमठ पुरी पीठ के शंकराचार्य स्वामी निश्चलानन्द सरस्वती (File Photo: ETV/NEWS18)

गोवर्धनमठ पुरी पीठ के शंकराचार्य स्वामी निश्चलानन्द सरस्वती (File Photo: ETV/NEWS18)

शंकराचार्य ने बताया, ‘जहां तक मनमोहन सिंह के समय की बात है, तो उस समय राम मंदिर निर्माण की कोई बात ही नहीं थी.

    अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के संबंध में वर्तमान केंद्र सरकार द्वारा कोई संपर्क नहीं किए जाने से क्षुब्ध प्रतीत हो रहे गोवर्धनमठ पुरी पीठ के शंकराचार्य स्वामी निश्चलानन्द सरस्वती ने शुक्रवार को मथुरा में कहा कि प्रधानमंत्री ने इस मुद्दे पर उनसे कभी कोई विचार-विमर्श नहीं किया है.

    उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में यह सरकार मंदिर निर्माण के संबंध में भविष्य में क्या रुख लेगी, यह कह पाना संभव नहीं. वे यहां वृन्दावन स्थित हरिहर आश्रम में संवाददाताओं से मुखातिब थे. उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्रियों पीवी नरसिंह राव और अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में उनसे की गई वार्ताओं का उल्लेख करते हुए कहा कि राव ने तो उनसे सीधे-सीधे चर्चा की थी, जबकि वाजपेयी ने मंदिर निर्माण विषय पर एक दूत के माध्यम से उनका विचार जानने का प्रयास किया था.

    उन्होंने कहा, ‘लेकिन भाजपा नीत वर्तमान सरकार के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से पिछले चार साल के कार्यकाल में कभी ऐसी पहल करने में किसी ने कोई रुचि नहीं दिखाई. न ही इस संबंध में प्रधानमंत्री ने अपने विचार सामने रखे.’

    शंकराचार्य ने बताया, ‘जहां तक मनमोहन सिंह के समय की बात है, तो उस समय राम मंदिर निर्माण की कोई बात ही नहीं थी. लेकिन अयोध्या में राम मंदिर स्थापना की वकालत करने वाली भाजपा के राज में साधु-संतों से चर्चा भी नहीं करना कुछ अजीब लग रहा है. क्योंकि, देश व प्रदेश में एकमत की सरकारें होने के कारण माना जा रहा था कि मंदिर निर्माण के लिए यह समय सर्वाधिक अनुकूल है.’

    उन्होंने कहा, ‘ऐसी स्थिति में यही चारा रह जाता है कि सरकार या तो सरदार वल्लभ भाई पटेल के समान मंदिर निर्माण में आ रही बाधाओं को दूर करने का प्रयास करे या सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करे. शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उनसे मुलाकात के लिए आने के विषय पर उन्होंने कहा कि वह केवल शिष्टाचार मुलाकात के लिए आ रहे हैं या उनका कोई विशेष प्रयोजन है, यह अभी नहीं कहा जा सकता.

    Tags: Puri, मथुरा

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर