मथुरा: मोबाइल पर गेम खेलते-खेलते कार में लॉक हो गया बच्चा, दम घुटने से हुई मौत

उन्होंने बताया कि सभी सदस्यों ने उसे आसपास के घरों में भी ढूंढा, परंतु वह न मिला. (सांकेतिक फोटो)

पुलिस के अनुसार थाना रिफाइनरी के गांव बरारी (Village Barari) का निवासी रिंकू अग्रवाल का बेटा कृष्णा उसका मोबाइल लेकर खेलने चला गया. उन्होंने बताया कि बहुत देर हो जाने के बावजूद जब वह नहीं लौटा तो उसकी खोज होने लगी.

  • Share this:
    मथुरा. उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद (Mathura District) में एक गांव में मोबाइल पर गेम खेलते-खेलते आठ साल का एक बच्चा कार में जाकर बैठ गया. इस दौरान कार लॉक (Car Lock) हो जाने के कारण वह बाहर नहीं निकल सका और दम घुट जाने से उसकी मृत्यु (Death) हो गई. पुलिस ने इसकी जानकारी दी. पुलिस के अनुसार थाना रिफाइनरी के गांव बरारी का निवासी रिंकू अग्रवाल का बेटा कृष्णा उसका मोबाइल लेकर खेलने चला गया. उन्होंने बताया कि बहुत देर हो जाने के बावजूद जब वह नहीं लौटा तो उसकी खोज होने लगी.

    उन्होंने बताया कि सभी सदस्यों ने उसे आसपास के घरों में भी ढूंढा, परंतु वह न मिला. अधिकारी ने बताया कि दो घण्टे ढूंढने के बाद वह किसी को बाहर खड़ी कार में लेटा पाया. खोलकर देखा गया तो वह बेहोश था. उन्होंने बताया कि उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

    डॉक्टरों ने दोनों की हालत स्थिर बतायी थी
    बता दें कि इसी तरह का मामला बीते महीने बदायूं जिले में सामने आया था. बदायूं जनपद के दातागंज कोतवाली क्षेत्र के परा मोहल्ले में खेलते वक्त तीन बच्चे एक एसयूवी कार में लॉक हो गए थे. गाड़ी में लॉक लगने के बाद एक बच्चे की दम घुटने से मौत हो गई, जबकि दो बच्चों की हालत गंभीर बनी हुई थी. दोनों बच्चों को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां डॉक्टरों ने दोनों की हालत स्थिर बतायी थी.

     गाड़ी के अंदर बेहोश हो गई थी
    अलापुर थाना क्षेत्र के रहने वाले साजिद अपने बहनोई कैसर अली की बेटी की शादी में दातागंज कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला परा में आए हुए थे. लड़की की शादी दोपहर में थी और सभी लोग शादी की खुशियों में मस्त थे. वहीं साजिद और उसके भाई राशिद के बच्चे किसी तरह से एसयूवी गाड़ी की चाबी ले आए. चाबी लाने के बाद बच्चे गाना सुनने के लिए गाड़ी के अंदर बैठ गए. गाड़ी के अंदर बैठने के बाद कुछ ही समय बाद गाड़ी में लॉक लग गया. बच्चों के काफी प्रयास बाद जब लॉक नहीं खुला तो वो बेहोश होने लगे. बच्चों की गाड़ी के अंदर दम घुटने से साजिद के 3 साल के पुत्र साविद की मौत हो गई, जबकि उसके भाई राशिद की 5 साल की बेटी अलशिफा और 3 साल की बेटी मंतशा दम घुटने से गाड़ी के अंदर बेहोश हो गई थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.