मथुरा: त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस ट्रेन लूट का हुआ खुलासा, एक महिला समेत 5 गिरफ्तार

मथुरा में बीते 3 अगस्त को ट्रेन में हुए लूटकांड में पुलिस ने एक महिला समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 7, 2019, 9:57 PM IST
मथुरा: त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस ट्रेन लूट का हुआ खुलासा, एक महिला समेत 5 गिरफ्तार
लूट की यह घटना हजरत निजामुद्दीन से त्रिवेंद्रम जा रही ट्रेन में हुई थी
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 7, 2019, 9:57 PM IST
मथुरा में बीते 3 अगस्त को त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस ट्रेन में हुए लूट कांड में पुलिस ने एक महिला समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है. इसका खुलासा जीआरपी मथुरा ने किया है. लूट की यह घटना हजरत निजामुद्दीन-त्रिवेंद्रम सेंट्रल सुपरफास्ट एक्सप्रेस (ट्रेन संख्या-22634) में हुई थी. लूट के दौरान एक मां और बेटी की ट्रेन से गिरकर मौत हो गई थी. इस घटना में जान गंवाने वाली मीना और मनीषा दुर्गापुर की रहने वाली थीं. बदमाशों ने S6 और S2 कोच में तीन वारदातों को अंजाम दिया था. पुलिस ने बताया है कि पकड़े गए लुटेरों के पास से लूटपाट का सामान व 26 हजार नकद बरामद किए हैं.

ये है घटना
दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन से केरल जा रही त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस में 3 अगस्त को 03.39 बजे लूट की दुस्सासिक वारदात में मां-बेटी की जान चली गई थी. लूट की यह घटना वृंदावन रोड रेलवे स्टेशन से करीब दो किलोमीटर पहले हुई थी. लूट को अंजाम देकर लुटेरे भागने में कामयाब रहे थे. सनसनीखेज घटना के बाद जीआरपी इंसपेक्टर को लाइन हाजिर कर दिया गया था.

बदमाश ने दोनों को गेट से बाहर धक्का दे दिया

तड़के करीब पौने चार बजे मीना देवी टायलेट के लिए उठीं. जब वो टायलेट से वापस आईं तो उनकी सीट पर रखे बैग को बदमाश उठा रहे थे. मीना ने बदमाशों से बैग छीनने की कोशिश की. इसी दौरान मनीषा की भी आंख खुल गई और वह भी बैग को बदमाशों से खींचने लगी. एक बदमाश बैग को लेकर ट्रेन से भागने का प्रयास कर रहा था. इसी खींचातानी में दोनों ट्रेन में गेट के पास पहुंच गईं. बदमाश ने तेजी से झटके के साथ बैग को खींचा और दोनों को गेट से बाहर धक्का दे दिया. वे दोनों ट्रेन से बाहर जा गिरीं और बदमाश उनका कीमती सामान से भरा बैग लेकर कूद गया.

उठने के बाद बेटे ने चेन खींचकर रोकी ट्रेन
इधर, ट्रेन में हल्ला मचा तो बेटे आकाश की भी आंख खुल गई और उसने लोगों से घटना के बारे में पूछा. जब उसे पता चला कि उनकी मां और बहन को ट्रेन से फेंका गया है तो उन्होंने चेन खींच दी. लेकिन तब तक ट्रेन वृन्दावन रोड स्टेशन पर पहुंच चुकी थी. यह घटना आझई स्टेशन के निकट घटी थी. रेलवे सुरक्षा बल कोतवाली प्रभारी चंद्रभान प्रसाद ने बताया, ‘रेलवे स्टाफ को घटना की जानकारी मिलते ही तत्काल मौके पर एंबुलेंस भेजी गई, लेकिन तब तक मां-बेटी की मौत हो चुकी थी.
Loading...

ये भी पढ़ें:

अयोध्या विवाद: SC ने पूछा- क्या भगवान राम या जीसस ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है?

कश्मीरी छात्रों को राहत देने के लिए आगे आए यूपी के इंस्टिट्यूट
First published: August 7, 2019, 9:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...