अपना शहर चुनें

States

मथुरा: दो साधुओं की मौत मामले में पुलिस ने दर्ज की हत्या की FIR, बेशकीमती जमीन से जुड़े तार!

थानाध्यक्ष (SHO) प्रदीप कुमार ने बताया कि गोपाल दास के पुत्र मानसिंह की तहरीर पर अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा (FIR) दर्ज कर लिया गया है. जांच की जा रही है.
थानाध्यक्ष (SHO) प्रदीप कुमार ने बताया कि गोपाल दास के पुत्र मानसिंह की तहरीर पर अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा (FIR) दर्ज कर लिया गया है. जांच की जा रही है.

थानाध्यक्ष (SHO) प्रदीप कुमार ने बताया कि गोपाल दास के पुत्र मानसिंह की तहरीर पर अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा (FIR) दर्ज कर लिया गया है. जांच की जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 23, 2020, 10:23 PM IST
  • Share this:
मथुरा. गोवर्धन कस्बे के गिरिराज बाग के पीछे जंगल में बने आश्रम में दो साधुओं (Monks) की मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. इस मामले में मृतक साधु गोपाल दास के पुत्र मान सिंह ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ पिता गोपाल दास की हत्या करने की तहरीर गोवर्धन थाना पुलिस को दी है. वहीं, पुलिस ने मानसिंह की तहरीर पर अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ हत्या करने का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

बता दें कि गोवर्धन कस्बे के गिरिराज बाग के समीप जंगल में बने एक आश्रम में भजन पूजा पाठ करने वाले तीन साधु श्याम सुंदर दास, गोपाल दास, रामबाबू दास रहते थे. शांति दास को जानकारी मिली कि आश्रम में रह रहे साधु अचानक बीमार हो गए हैं. जिनकी हालात गंभीर है. जिसकी सूचना मिलते ही शांति दास आश्रम पहुंचे जहां गोपाल दास निवासी दलोता श्याम सुंदर दास निवासी पैठा अचेत अवस्था मे आश्रम की छत पर पड़े थे तथा रामबाबू दास मुंह से झाग निकल रहा था.

चाय में साधुओं को दिया जहर
शांति दास ने घटना की सूचना थाना पुलिस को दी. पुलिस रामबाबू को गोवर्धन के सरकारी अस्पताल ले गई, जहां डॉक्‍टरों ने रामबाबू की चिंताजनक स्थिति को देखते हुए जिला अस्पताल रेफर कर दिया. वहीं, गोपाल दास, श्यामसुंदर दास की मौत हो गई थी. एसएसपी ने साधुओं की हत्या का कारण चाय में कोई विषेला पदार्थ का होना बताया गया था. मृतक साधु गोपाल दास के पुत्र मानसिंह ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया है. थानाध्यक्ष प्रदीप कुमार ने बताया कि गोपाल दास के पुत्र मानसिंह की तहरीर पर अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. जांच की जा रही है.




आश्रम की बेशकीमती जमीन को लेकर चर्चा
गोवर्धन क्षेत्र में एक रहस्य बनकर रह गईं साधुओं की मौत आश्रम की जमीन को मुख्य वजहों की चर्चा जोरशोर से चल रही है. विशेष सूत्रों से जानकारी मिली है कि आश्रम पर गोवर्धन देहात क्षेत्र के भूमाफिया तत्वों का आवागमन अक्सर रहता था. जिस स्थान पर आश्रम बना है वह जमीन बेशकीमती बताई गई है. अब तक गोवर्धन क्षेत्र में हुई साधुओं की मौत केवल रहस्य बन कर ही रह गई, जिनका खुलासा पुलिस जल्द करने का दावा कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज