होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Dussehra: इस शहर में रावण दहन पर लगा ग्रहण! निगम की लापरवाही से सालों की परंपरा पर संकट

Dussehra: इस शहर में रावण दहन पर लगा ग्रहण! निगम की लापरवाही से सालों की परंपरा पर संकट

दशहरे का मौका है और रामलीला मैदान के पास न कोई चहल पहल और न कोई उत्सव. मथुरा में बड़ी संख्या में लोग जल निगम और नगर निगम ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट – चंदन सैनी

    मथुरा. दशहरे के पर्व पर जगह-जगह रावण दहन की तैयारियां चल रही हैं, तो नगर निगम क्षेत्र में आने वाले औरंगाबाद गांव के लोगों के उत्साह और योजनाओं पर पानी फिर गया है. ये लोग इसलिए मायूस हैं क्योंकि रामलीला मैदान में जलभराव हो गया है. स्थानीय लोगों का कहना है कि जल निगम की लापरवाही के चलते रामलीला मैदान में करीब 1 महीने से पानी भरा हुआ है. पर्व को मनाने के लिए कई बार इस समस्या से निदान दिलाने के लिए जल निगम और नगर निगम के अधिकारियों से शिकायत की गई, लेकिन कोई भी अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है.

    News18 Local से बात करते हुए स्थानीय नागरिक अंकित शर्मा बताते हैं कि 200 से ज्यादा सालों से रावण दहन की परंपरा को गांव के लोग अपनी सामर्थ्य के अनुसार निभाते चले आ रहे हैं. औरंगाबाद के इस मैदान पर 25 सालों से रावण दहन किया जा रहा था, लेकिन जल निगम की लापरवाही के कारण परंपरा टूटती दिखाई दे रही है. यही कारण है कि रामलीला कमेटी के सदस्य और पदाधिकारियों के साथ-साथ स्थानीय लोग भी रावण दहन पर ग्रहण लगने से मायूस और नाराज़ हैं.

    महापौर को समस्या की जानकारी नहीं!

    स्थानीय लोगों का कहना है कि जल निगम और नगर निगम के अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है. रावण दहन की परंपरा टूटने की कगार पर पहुंच गई है और इस पूरे मामले को लेकर मथुरा के महापौर डॉ. मुकेश आर्य बंधु को कुछ पता ही नहीं है. News18 Local ने जब पूरे मामले पर जानकारी लेनी चाही तो उन्होंने कहा कि हमारे पास कोई लिखित में शिकायत नहीं आई. आई होती तो रामलीला मैदान से जल निकासी की व्यवस्था करा दी गई होती. पूरे मामले को लेकर जब जल निगम से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उनका पता लगाना ही टेढ़ी खीर हो गया.

    Tags: Mathura news, Ravana Dahan

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें