लाइव टीवी

साल में केवल 2 बार ही खुलता है टेढ़े खम्भों वाला शाहजी मंदिर, बसंत पंचमी पर खुलेगा

भाषा
Updated: January 29, 2020, 7:38 PM IST
साल में केवल 2 बार ही खुलता है टेढ़े खम्भों वाला शाहजी मंदिर, बसंत पंचमी पर खुलेगा
वृंदावन स्थित शाहजी का मंदिर या टेढ़े खम्भों वाला मंदिर

ठाकुर राधारमण लाल के इस मंदिर को उसके निर्माणकर्ताओं के नाम पर ‘शाहृजी का मंदिर’ (Shahji Mandir) और ‘टेढ़े खम्भों वाला मंदिर’ (Tede Khambe Wala Mandir) भी कहा जाता है.

  • Share this:
मथुरा. दुनिया में करोड़ों कृष्णभक्तों के आराध्य भगवान श्रीकृष्ण का ब्रज में एक ऐसा मंदिर भी है जो वर्ष में सिर्फ 2 बार ही खुलता है. पहला मौका होता है बसंत पंचमी (Basant Panchami) का, और दूसरा अवसर होता है श्रावण मास की अमावस्या के पश्चात हरियाली तीज का.

ठाकुर राधारमण लाल के इस मंदिर को उसके निर्माणकर्ताओं के नाम पर ‘शाहजी का मंदिर’ (Shahji Mandir) और मंदिर के बरामदे में विशेष प्रकार के टेढ़े-मेढ़े खम्भे बनाए जाने के कारण ‘टेढ़े खम्भों वाला मंदिर’ (Tede Khambe Wala Mandir) भी कहा जाता है.

इस बार वसंत पंचमी के अवसर पर श्रीराधारमण लाल जी विशेष रूप से सजाए गए वासंती कमरे में वसंती पोशाक में दर्शन देंगे जिसकी एक झलक पाने के लिए हजारों भक्त इस दिन का बेसब्री से इंतजार करते हैं.

इस मंदिर के निर्माणकर्ता लखनऊ निवासी शाह बंधुओं शाह कुंदनलाल और शाह फुंदनलाल की पांचवीं पीढ़ी के वंशज और वर्तमान में प्रबंधक की जिम्मेदारी निभा रहे प्रशांत शाह ने बताया, ‘‘1868 में बसंत पंचमी के दिन ही स्वर्ण सिंहासन पर ठाकुर राधारमण लाल के श्रीविग्रह को प्रतिष्ठित किया गया.’’

बसंत पंचमी के अवसर गुरुवार को मंदिर के साथ-साथ वासंती कमरा सुबह और शाम दो बार तथा शुक्रवार को केवल शाम में खुलेगा.

ये भी पढ़ें-

काशी आकर बाबा विश्वनाथ की पूजा करें अखिलेश,अच्छी बुद्धि आएगी:केशव प्रसाद मौर्य

वाराणसी: छात्रों ने रेत पर उकेरी गंगा के धरती पर अवतरित होने की महिमा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मथुरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 29, 2020, 6:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर