Assembly Banner 2021

धर्म संसद पर शंकराचार्य का तंज, कहा-राजनीतिक फायदे के लिए अयोध्या और राम का इस्तेमाल करना चाहते हैं लोग

गोवर्धन पीठ के शंकराचार्य अधोक्षजानन्द देव

गोवर्धन पीठ के शंकराचार्य अधोक्षजानन्द देव

उन्होंने कहा कि जो लोग अयोध्या में इकट्ठा हो रहे हैं, उनका मन साफ नहीं हैं. वे अयोध्या और राम के नाम का राजनीतिक स्वार्थ के लिए इस्तेमाल करना चाह रहे हैं.

  • Share this:
राम मंदिर निर्माण को लेकर शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे के आवाहन पर पहुंचे समर्थकों एवं बीएचपी द्वारा धर्म संसद के कार्यक्रम पर गोवर्धन पीठ के शंकराचार्य अधोक्षजानंद देव तीर्थ जी महाराज का बड़ा बयान सामने आया है. शंकराचार्य ने सवाल उठाया है कि धारा 144 लागू होने पर लाखों लोगों का अयोध्या में जमावड़ा क्यों हो रहा है. उन्होंने कहा कि जो लोग अयोध्या में इकट्ठा हो रहे हैं, उनका मन साफ नहीं हैं. वे अयोध्या और राम के नाम का राजनीतिक स्वार्थ के लिए इस्तेमाल करना चाह रहे हैं.

उन्होंने कहा कि एक तरफ धारा 144 लागू है तो दूसरी तरफ अयोध्या में भारी संख्या में लोग इकट्ठा हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि संवैधानिक रास्ता अयोध्या से नही बल्कि संसद या सुप्रीम कोर्ट से निकलेगा. आज के हालात देखकर  संवैधानिक संस्थाओं की मर्यादा बचाये जाने की आवश्यकता है.

शंकराचार्य ने सुप्रीम कोर्ट से भी जल्द निर्णय लेने की अपील की है. उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि देश की जनता ने गाय गंगा और मंदिर के मुद्दे पर उनको पूर्ण बहुमत दिया था. फिर भी सरकार चार साल से भी अधिक समय मे कुछ नही कर पाई.



उन्होंने कहा कि अशांति फैलाने वाले अयोध्या जाना चाह रहे हैं. जिनका मन साफ नही है. यह लोग छल कपट से लबरेज है राजनीतिक फायदे के लिए अयोध्या ओर राम चन्द्र जी के नाम का इस्तेमाल करना चाहते है. शंकराचार्य ने कहा कि चुनावो से पहले राम मंदिर निर्माण एक मजाक है. यह लोग मंदिर को आस्था से नहीं मुद्दे से देखते हैं. (रिपोर्ट-नितिन गौतम)
ये भी पढ़ें:

अयोध्या में कैसी रही विश्व हिंदू परिषद की धर्मसभा? दे​खिए DRONE 

अयोध्या में राम मूर्ति पर बोले डिप्टी सीएम- लाॅलीपाॅप की नहीं, गुलगुले खाने का इंतजार करें

राम मंदिर के लिए देश के 'मुसलमानों' को करनी चाहिए पहल: एक्टर हेमंत पांडेय
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज