Home /News /uttar-pradesh /

shri krishna janmabhoomi case hearing could not be held in mathura court today due to death of lawyer upns

मथुरा श्रीकृष्ण जन्मभूमि विवाद मामले में टली सुनवाई, जानिए अब कब होगी हियरिंग

 सभी वादों में श्रीकृष्ण जन्मस्थान की 13.37 एकड़ जमीन से कब्जा हटाने की मांग की गई है. (File photo)

सभी वादों में श्रीकृष्ण जन्मस्थान की 13.37 एकड़ जमीन से कब्जा हटाने की मांग की गई है. (File photo)

इससे पहले श्रीकृष्ण जन्मभूमि मुक्ति न्याय के अध्यक्ष एडवोकेट महेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि उन्होंने अधिवक्ता श्रीभगवान शर्मा के माध्यम से सिविल जज सीनियर डिवीजन ज्योति सिंह की अदालत में अर्जी देकर श्रीकृष्ण जन्मभूमि परिसर की 13.37 एकड़ भू-सम्पति से संबंधित सभी मामलों के तथ्य तथा उनकी प्रकृति एक ही समान होने के कारण सभी मामले को एक साथ सुने जाने की मांग रखी थी. जिस पर सुनवाई के लिए एक जुलाई की तारीख तय की गई है.

अधिक पढ़ें ...

मथुरा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मथुरा (Mathura) जिले में श्रीकृष्ण जन्मभूमि (Shri Krishna Janmabhoomi) और शाही ईदगाह (Shahi Idgah) विवाद मामले में शुक्रवार को नौ वादों और करीब 15 प्रार्थना पत्रों पर सुनवाई होनी थी, लेकिन एक वकील की मौत के कारण अदालत में शोक अवकाश घोषित कर दिया गया. इसके कारण सुनवाई नहीं हो सकी. अब कोर्ट दो मामले में 5 जुलाई और सात केसों में 15 जुलाई को सुनवाई करेगा. आज एक साथ नौ वादों और करीब 15 प्रार्थना पत्रों पर सुनवाई होनी थी. श्रीकृष्ण विराजमान और ठाकुर केशवदेव के भक्त बनकर अदालत में याचिका दाखिल करने वाले वादीगण सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में एक साथ सामने होंगे. सभी वादों में श्रीकृष्ण जन्मस्थान की 13.37 एकड़ जमीन से कब्जा हटाने की मांग की गई है.

इस मामले में पिछले दिनों श्री कृष्णजन्म स्थान सेवा संतान के सचिव कपिल शर्मा ने भी प्रेसवार्ता के जरिए अपना पक्ष भी जाहिर किया था. कई मामले सिलसिलेवार मथुरा की अदालत में पहुंच जाने के बाद न्यायालय ने सभी मामलों की सुनवाई के लिए एक जुलाई की तारीख तय की थी. जमीन से कब्जा हटवाने के लिए सबसे पहला वाद 25 सितंबर 2020 में सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता रंजना अग्निहोत्री ने सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में दायर किया था, जिसमें यूपी सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड, कमेटी ऑफ मैनेजमेंट ट्रस्ट शाही मस्जिद ईदगाह, श्रीकृष्ण जन्मभूमि ट्रस्ट व श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान को प्रतिवादी बनाया गया.

इन वादों में होनी है सुनवाई
ठाकुर केशव देव महाराज विराजमान मंदिर कटरा केशव देव में जय भगवान गोयल, सौरभ गौड़, राजेंद्र माहेश्वरी व महेंद्र प्रताप सिंह वाद संख्या 950/20
हिंदू आर्मी चीफ मनीष यादव के वाद संख्या 152/21.
मंदिर कटरा केशवदेव के सेवायत पवन कुमार शास्त्री के वाद संख्या 107/20.
अनिल कुमार त्रिपाठी के वाद संख्या 252/21.
दिनेश चंद शर्मा के वाद संख्या 174/21.
जितेंद्र सिंह विशेन के वाद संख्या 620/21.
गोपाल गिरी के वाद संख्या 683/21.
पंकज सिंह के वाद संख्या 777/21.
रंजना अग्निहोत्री आदि के वाद में होनी है सुनवाई.

इससे पहले श्रीकृष्ण जन्मभूमि मुक्ति न्याय के अध्यक्ष एडवोकेट महेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि उन्होंने अधिवक्ता श्रीभगवान शर्मा के माध्यम से सिविल जज सीनियर डिवीजन ज्योति सिंह की अदालत में अर्जी देकर श्रीकृष्ण जन्मभूमि परिसर की 13.37 एकड़ भू-सम्पति से संबंधित सभी मामलों के तथ्य तथा उनकी प्रकृति एक ही समान होने के कारण सभी मामले को एक साथ सुने जाने की मांग रखी थी. जिस पर सुनवाई के लिए एक जुलाई की तारीख तय की गई है.

Tags: Bjp government, CM Yogi, Mathura Krishna Janmabhoomi Controversy, Mathura news, Mathura police, Up news today hindi, UP Police उत्तर प्रदेश

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर