लाइव टीवी

कंठीमाला बेचने के आड़ में करता था तस्करी, शेर के नाखून के 908 नग और 17 पैकेट कस्तूरी बरामद

भाषा
Updated: December 9, 2019, 9:07 AM IST
कंठीमाला बेचने के आड़ में करता था तस्करी, शेर के नाखून के 908 नग और 17 पैकेट कस्तूरी बरामद
शेर के नाखून के साथ तस्कर गिरफ्तार (प्रतीकात्मक फोटो)

कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अवधेश प्रताप सिंह ने बताया कि इस मामले में राजस्थान वन विभाग (Rajasthan Forest Department) के उपमंडल अधिकारी की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. आरोपी को पहले भी एक मामले में पकड़ा जा चुका था.

  • Share this:
मथुरा. राजस्थान के झुंझनूं (Jhunjhunu) से आई वन विभाग की टीम ने शनिवार को छापेमारी कर मथुरा शहर में कंठीमाला (Kanthimala) और भगवान की तस्वीरें बेचने वाले एक ऐसे दुकानदार को गिरफ्तार किया है जो पिछले कई वर्षों से गुप्त तरीके से संरक्षित वन्यजीवों (Wildlife) के अंगों की ऑनलाइन आपूर्ति कर रहा था. आरोपी तस्कर का नाम कन्हैया लाल है.


स्थानीय पुलिस और वन विभाग के सहयोग से की गई इस कार्रवाई में आरोपी के यहां से भारी मात्रा में विलुप्तप्राय वन्यजीवों के अंग, पुरातात्विक महत्व के दो शंख बरामद किए गए हैं. आरोपी कन्हैया लाल ये वस्तुएं ऑनलाइन डिमाण्ड पर सप्लाई करता था, जबकि सार्वजनिक तौर पर उसका व्यवसाय ठाकुरजी की तस्वीरें तथा कंठीमाला आदि धर्म-कर्म की वस्तुएं बेचने का था.


रिपोर्ट दर्ज कराई गई है

कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अवधेश प्रताप सिंह ने बताया कि इस मामले में राजस्थान वन विभाग के उपमंडल अधिकारी की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. आरोपी को पहले भी एक मामले में पकड़ा जा चुका था. वह जमानत पर था. उसकी गिरफ्तारी झुंझनूं में एक अन्य तस्कर की गिरफ्तारी के बाद संभव हो पाई है. सिंह ने बताया कि पुलिस अब कन्हैया लाल से पूछताछ कर इन सभी सामान को प्राप्त करने के स्रोत का पता करेगी और तस्करी के रैकेट में शामिल अन्य लोगों का भी पता लगाया जाएगा.


औषधियां बनाने के लिए बेचते थे
प्रारंभिक पूछताछ में मिली जानकारी के अनुसार, ये लोग इन वस्तुओं को तंत्र-मंत्र से जुड़े प्रयोगों और बलवर्धक औषधियां बनाने के लिए बेचते थे. स्थानीय वन विभाग के अधिकारी पीके पाण्डेय ने बताया कि करीब डेढ़ घंटे तक दुकान की सघन तलाशी के दौरान टीम को शेर के नाखूनों के 908 नग, मॉनीटर लिजार्ड (विषखपरिया) के 1255 नग, हिरण के शरीर से निकाली गई कस्तूरी के 17 पैकेट, समुद्री फेन के 818 नग, कोबरा सांप की केंचुली, बिल्ली के जेर 12 नग, समुद्री मछली के कंकाल आदि अनेक ऐसी वस्तुएं शामिल हैं जिनका आखेट, भण्डारण और बिक्री आदि कानूनन जुर्म है.


ये भी पढ़ें- 

Delhi Fire: 43 लोगों की मौत के बाद फरार फैक्ट्री मालिक गिरफ्तार

Delhi Anaj Mandi Fire: एक ही गांव के आठ लोगों की मौत, गांव में मातम


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मथुरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 9:02 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर