लाइव टीवी

एकतरफा प्यार को न पा सका तो फेंका था तेजाब, मां, बहन, ताई समेत युवक को मिली उम्रकैद

भाषा
Updated: December 10, 2019, 11:26 PM IST
एकतरफा प्यार को न पा सका तो फेंका था तेजाब, मां, बहन, ताई समेत युवक को मिली उम्रकैद
अदालत ने तेजाब फेंककर युवती की हत्या करने के मामले में दोषी युवक समेत 3 महिलाओं को उम्र कैद की सजा सुनाई. (सांकेतिक तस्वीर)

मथुरा (Mathura) जिले में तेजाब फेंककर युवती की हत्या (Murder) करने के मामले में दोषी युवक इरशाद पहले से ही जेल में था जबकि दोषी पाई गईं मां, बहन और ताई जमानत पर बाहर थीं.

  • भाषा
  • Last Updated: December 10, 2019, 11:26 PM IST
  • Share this:
मथुरा. उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में एक युवक एकतरफा प्यार को न पा सका था तो उसने अपनी मां, बहन और ताई के साथ मिलकर साजिश रची और युवती पर तेजाब फेंक दिया था. तेजाब के कारण युवती की जान चली गई. मंगलवार को जिले की एक अदालत ने तेजाब फेंककर युवती की हत्या करने के मामले में दोषी युवक समेत 3 महिलाओं को उम्र कैद समेत 50-50 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई. दोषी युवक इरशाद युवती से शादी करना चाहता था जबकि उसकी शादी धौलपुर के एक अन्य युवक से तय हो चुकी थी. युवती तथा उसके घर के लोग इरशाद को पसंद नहीं करते थे.

तैयबा को बचाने के प्रयास में मां, 13 साल की बेटी और 20 साल का बेटा भी झुलस गया था
अपर जिला एवं सत्र न्यायालय (त्रयोदश) के सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता (फौजदारी) भगत सिंह आर्य ने बताया कि, ‘यह घटना तीन वर्ष पूर्व वर्ष 2016 के जुलाई माह की 14-15 की दरम्यानी रात की है, जब रात डेढ़ बजे शहर के गोविंद नगर थाना क्षेत्र निवासी अब्दुल रसीद की पुत्री तैयबा पर पड़ोस के युवक इरशाद उर्फ कलुआ ने तेजाब डाल दिया था. तैयबा को बचाने के प्रयास में उसकी मां अनीशा, 13 वर्षीय पुत्री नौरीन, 20 वर्षीय बेटा जीशान भी झुलस गए थे.’

पुलिस ने इरशाद की मां, बहन तथा ताई को साजिशन घटना को अंजाम देने का दोषी पाया

अस्पताल में इलाज के दौरान तैयबा ने दम तोड़ दिया. मृतका के पिता ने गोविंद नगर थाने में इरशाद के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी. जांच के दौरान पुलिस ने इरशाद के साथ उसकी मां रईसा, बहन रोशनी तथा ताई रसीदन को साजिशन घटना को अंजाम देने का दोषी पाया. पुलिस ने उनके खिलाफ भी कार्रवाई करते हुए आरोप-पत्र दायर किया था.

सश्रम कारावास के साथ देना होगा 50-50 हजार रुपए जुर्माना
मामले की सुनवाई अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश आंचल शर्मा की अदालत में हुई, जहां न्यायाधीश ने दोनों पक्षों के साक्ष्यों का अध्ययन कर आरोपी इरशाद तथा तीनों महिलाओं को आजीवन सश्रम कारावास तथा 50-50 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई.ये भी पढे़ं - 

उन्नाव गैंगरेप: MLA कुलदीप सेंगर पर 16 दिसंबर को फैसला सुनाएगी कोर्ट

CAB को शिवसेना के सपोर्ट पर NCP बोली- अलग दलों के हमेशा समान विचार, संभव नहीं 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मथुरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 11:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर