Home /News /uttar-pradesh /

करें गोकुल के बांके बिहारी लाल की छड़ीमार होली के खास दर्शन

करें गोकुल के बांके बिहारी लाल की छड़ीमार होली के खास दर्शन

भगवान श्रीकृष्ण का घर माने जाने वाले क्षेत्र गोकुल की होली भी बेहद खास होती है.

भगवान श्रीकृष्ण का घर माने जाने वाले क्षेत्र गोकुल की होली भी बेहद खास होती है.

भगवान श्रीकृष्ण का घर माने जाने वाले क्षेत्र गोकुल की होली भी बेहद खास होती है.

    ब्रज की होली का अपना ही आलौकिक आंनद है. इस बार भी हर बार की तरह पूरे ब्रज क्षेत्र मे होली पर्व की धूम मची हुई है. मथुरा और वृन्दावन के हजारों मन्दिरों में दिन प्रति दिन लाखो श्रदालु होली खेलने के लिए पहुँच रहे है.


    ब्रज के हर मंदिर की होली का अनोखा अंदाज होता है. ब्रज की रज में होली के रंग ऐसे समाहित होते है जैसे श्रीकृष्ण की भक्ति में गोपियां.
    कथानुसार भगवान श्रीकृष्ण का घर माने जाने वाले क्षेत्र गोकुल की होली भी बेहद खास होती है.जैसे बरसाने की लठ्ठमार होली प्रसिद्ध है वैसे ही गोकुल की छड़ीमार होली को लेकर भी श्रद्धालुओं के मन में खास उमंग रहती है. देश विदेश से हजारों श्रद्धालु यहां छड़ीमार होली खेलने और देखने पहुंचते हैं.



    सारे गोकुलवासी इस होली के लिए पन्दह दिन पहले से तैयारी करते है. इस दौरान भगवान श्रीकृष्ण का विशाल डोला बैंड बाजो के साथ कस्बे में गोकुलनाथ जी के मन्दिर से निकाला जाता है. ब्रज की महिलाएं धूम धाम के साथ सातो सिंगार करके छड़ीमार होली खेलने पहुंचती हैं.



    जानकारों के अनुसार, इन महिलाओं के अराध्य श्रीकृष्ण बचपन मे अपनी गोपियों के साथ छड़ीमार होली खेलते थे. इसलिए कई सौ वर्षों से यह परम्परा चली आ रही है. मथुरा के सभी मन्दिरो मे लाठ मार होली खेलते है लेकिन गोकुल मे कन्हैया का बाल रूप होने कारण यहां छड़ीमार होली खेली जाती है.

    Tags: Holi of gokul, Lord krishna, मथुरा

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर