Home /News /uttar-pradesh /

हेमा मालिनी से बंदरों की समस्या को लेकर मिले शहर के पार्षद, सांसद ने द‍िया अजीबो गरीब बयान

हेमा मालिनी से बंदरों की समस्या को लेकर मिले शहर के पार्षद, सांसद ने द‍िया अजीबो गरीब बयान

सांसद हेमा मालिनी ने फिर ऐसा बयान दे दिया जो अब लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है

सांसद हेमा मालिनी ने फिर ऐसा बयान दे दिया जो अब लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है

Uttar Pradesh News: हेमा मालिनी ने बताया कि समस्याएं तो बहुत हैं, समस्याएं लगातार चलती रहेंगी क्योंकि जिंदगी तो वही है. अगर समस्याएं नहीं होंगी तो सब लोग आराम से बैठे रहेंगे. सबको काम चाहिए काम मिलता है, लेकिन लोग काम नहीं करते. मथुरा में यही प्रॉब्लम है.

अधिक पढ़ें ...

    उत्‍तर प्रदेश के मथुरा की सांसद हेमा मालिनी अपने जीवन में सादगी और सीधी बात के लिए जानी जाती है और यही सीधी बात उनके विपक्षियों को बैठे बिठाए मुद्दा दे देती है. बंदरों की समस्या पर सांसद हेमा मालिनी ने फिर ऐसा बयान दे दिया जो अब लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है. लोग अब आरोप लगा रहे है कि हेमा ने चुनावों के समय मंकी सफारी बनाकर निजात दिलाने का भरोसा दिया था, लेकिन मंकी सफारी तो बनी नहीं लोगों पर काम न करने का ठीकरा फोड़ रही है. अगर लोग काम नहीं कर रहे है तो उन्हें काम न करने की सैलरी क्यों दी जा रही है?

    दरअसल, मथुरा की सांसद और प्रसिद्ध फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी से शहर के पार्षद व कुछ लोगों ने उनके निवास पर मुलाकात की ओर समस्याएं सुनी. इस दौरान लोगों की समस्याएं सुन उन्होंने लोगों को जल्द ही समस्याओं का निराकरण करने का आश्वासन दिया. वहीं उन्होंने कहा कि सब लोगों को काम चाहिए. लोगों को काम मिलता है, लेकिन लोग काम नहीं करते. जब सरकार सैलरी दे रही है तो लोगों को दिल लगाकर मन लगाकर काम करना चाहिए, लेकिन वे ऐसा नहीं करते.

    हेमा मालिनी ने बंदरों की समस्याओं पर क्या बोला
    हेमा ने बताया कि समस्याएं तो बहुत हैं, समस्याएं लगातार चलती रहेंगी क्योंकि जिंदगी तो वही है. अगर समस्याएं नहीं होंगी तो सब लोग आराम से बैठे रहेंगे. सबको काम चाहिए काम मिलता है, लेकिन लोग काम नहीं करते. मथुरा में यही प्रॉब्लम है. द्वारकाधीश होली गेट की तरफ से एक पार्षद आए थे उनका कहना है कि यहां पर कचरा होता है, जिसकी वजह से बंदरों की समस्या है. बंदरों की समस्या की वजह से बहुत परेशानियां होती हैं और जब तक कचरा सारा हटाएंगे नहीं बंदरों की समस्या बनी रहेगी. तो कचरा निकालने वाले जितने भी लोग हैं वह मेरे ख्याल में सारे के सारे वह अगर दिल लगाकर काम करें तो यह परेशानी नहीं होगी. 20-20 लोग हैं जिनको वेतन मिलता है, लेकिन सुना है कि वह काम नहीं करते. कुछ लोग करते हैं कुछ लोग नहीं करते. अगर सरकार दे रही है वेतन तो काम करें.

    हेमा मालिनी ने कहा कि सरकार सैलरी दे रही है तो सफाई कर्मचारियों को काम करना चाहिए. मथुरा में हमेशा गंदगी रहती है वह इस कारण क्योंकि ऐसे लोग हैं. लोगों को देखभाल करनी चाहिए. कचरे की वजह से बंदर आते हैं और फिर लोग कहते हैं कि बंदरों को हटाओ. बंदरों को हम फिर कैसे हटाएंगे. यह एक बहुत बड़ी समस्या है. पहले हम ग्राउंड लेवल पर अपनी तरफ से साफ-सफाई रखेंगे तभी ठीक हो सकता है. उसके बाद बंदरों के बारे में सोचा जाएगा कि उनके लिए फॉरेस्ट बनाया जाए. लोग पेड़ को ना काटे घना जंगल होगा तो उधर अंदर रह सकते हैं. इसलिए लोगों को पेड़ नहीं काटने चाहिए.

    Tags: Hema malini, Mathura news, Monkeys problem, UP news, Uttar pradesh news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर