वृंदावन: 25 अक्टूबर से खुलेंगे बांके बिहारी मंदिर के कपाट, दर्शन की ये होगी व्यवस्था

25 अक्टूबर से खुलेगा बांके बिहारी मंदिर (file photo)
25 अक्टूबर से खुलेगा बांके बिहारी मंदिर (file photo)

मथुरा (Mathura) में शुक्रवार को न्यायालय, सिविल जज जूनियर डिवीजन के आदेश के बाद जिला प्रशासन और मंदिर प्रबंधन ने देर रात तक मीटिंग कर यह निर्णय लिया है.

  • Share this:
मथुरा. उत्तर प्रदेश में मथुरा (Mathura) के वृंदावन से बांके बिहारी के भक्तों के लिए एक बड़ी और खुश कर देने वाली खबर आई है. विश्व प्रसिद्ध भगवान बांके बिहारी मंदिर (Banke Bihari Mandir) के दर्शन 25 अक्टूबर यानी रविवार से हो सकेंगे. शुक्रवार को न्यायालय, सिविल जज जूनियर डिवीजन के आदेश के बाद जिला प्रशासन और मंदिर प्रबंधन ने देर रात तक मीटिंग कर यह निर्णय लिया है. मंदिर प्रशासन ने यह भी बताया कि भक्तों को केवल ऑनलाइन बुकिंग से ही दर्शन हो सकेंगे. दर्शन के दौरान मंदिर में गृह मंत्रालय की गाइड लाइन का पालन कराया जाएगा.

19 अक्टूबर को किया गया था बंद

इस संबंध में मंदिर प्रबंधन मैनेजर मनीष शर्मा ने बताया कि भक्तों के दर्शन के लिए बांके बिहारी के कपाट 25 अक्टूबर से खोले जाएंगे. पूर्व में भी यह कपाट न्यायालय के आदेश के बाद 17 अक्टूबर को खोले गए थे लेकिन मंदिर के बाहर भीड़ अधिक हो जाने के कारण कोविड-19 के नियमों का पालन नहीं हो पा रहा था, जिसके बाद मंदिर प्रबंधन ने मंदिर को 19 अक्टूबर से दर्शनार्थियों के लिए बंद कर दिया था.



मंदिर बंद होने ेके बाद विरोध हुआ शुरू
मंदिर के दर्शन बंद हो जाने से आक्रोशित लोगों ने जहां एक तरफ धर्म रक्षा संघ के बैनर तले मंदिर के सामने विभिन्न तरीके से विरोध किया एवं अनिश्चितकालीन धरने की शुरुआत की. लोगों के विरोध व मांग को देखते हुए प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा को इसमें हस्तक्षेप करना पड़ा और उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जिला प्रशासन को मंदिर के खुलवाए जाने के लिए व्यवस्थाओं के लिए पत्र भी लिखा. वहीं कांग्रेस के पूर्व विधायक प्रदीप माथुर ने भी जनभावनाओं को देखते हुए योगी सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने आरोप लगाया था कि एक तरफ भाजपा महाराष्ट्र में मंदिर खोले जाने को लेकर प्रदर्शन कर रही है, वहीं बिहारी जी मंदिर को न खुलवा दोहरे चरित्र को दिखा रही है.

कोर्ट ने दिया ये आदेश

उधर बांके बिहारी के भक्तों द्वारा न्यायालय में वाद दाखिल किया गया. जिस पर सुनवाई देते हुए शुक्रवार को न्यायालय सिविल जज जूनियर डिविजन ने फरमान जारी किया कि न्यायालय इस मामले में 15 अक्टूबर को ही अपना एक आदेश मंदिर को खोले जाने एवं कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करने का कर चुका है. एक मामले में दो आदेश नहीं हो सकते और 15 अक्टूबर के आदेश को ही प्रभावी मानते हुए उसका अनुपालन कराए जाने के साथ ही जल्द से जल्द मंदिर खोला जाए.

ये हुआ फैसला

न्यायालय के सख्त रुख एवं आदेश का अनुपालन कराने के उद्देश्य से बिहारी जी मंदिर प्रबंधन एवं जिला प्रशासन की देर रात तक बैठक व वार्ता हुई और उसके बाद निर्णय लिया गया कि 25 अक्टूबर से भक्तों के लिए दर्शन खुलेंगे. मंदिर प्रशासन की तरफ से मैनेजर मुनीश शर्मा ने बताया कि ने भक्तों से अनुरोध किया गया है कि बिना ऑनलाइन बुकिंग के मंदिर के बाहर एकत्रित न हों, साथ ही कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज