Lockdown: सूरत से पैदल चलकर 11 दिन में मऊ पहुंचे 4 मजदूर, कराई गई मेडिकल जांच
Mau News in Hindi

Lockdown: सूरत से पैदल चलकर 11 दिन में मऊ पहुंचे 4 मजदूर, कराई गई मेडिकल जांच
सूरत से पैदल मऊ पहुंचे 4 मजदूरों का मेडिकल टेस्ट करा लिया गया है

मऊ(Mau): नगर कोतवाल राम सिंह ने बताया कि चारों मजदूरों का मेडिकल परीक्षण करा दिया गया है. साथ ही 14 दिनों के आइसोलेशन में रखा जा रहा है.

  • Share this:
मऊ. कोरोना (COVID-19) के चलते लागू देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) में गुजरात के सूरत में फंसे उत्तर प्रदेश के चार मजदूर पैदल ही अपने घर के लिए निकल पड़े. 11 दिनों की कठिन यात्रा के बाद ये किसी प्रकार अपने गृह जनपद मऊ (Mau) पहुंचे. उन्होंने बताया कि लॉकडाउन लगने के बाद से ही उनके सामने खाने-पीने सहित तमाम प्रकार की दिक्कतें आने लगीं. जिसके बाद उन्होंने पैदल ही अपने घरों के लिए निकलने का निर्णय लिया. वैसे सरकार द्वारा मजदूरों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है कि वो पैदल यात्रा न करें लेकिन इस अपील के बाद भी परेशानियों के सामने मजबूर मजदूर वर्ग अपने गृह जनपद के लिए निकल जा रहा है.

सूरत में साड़ी कारोबार से जुड़े चारों मजदूरों ने बताया कि ये 20 अप्रैल को वो पैदल ही निकल पड़े थे. रास्ते में ट्रक वालों ने सहारा दिया. 11 दिन की लंबी यात्रा के बाद चारों सही सलामत अपने घर पहुंच गए. इन्होंने घर पहुंचने से पहले परिजनों को आने की सूचना दे दी थी. परिजनों द्वारा प्रशासन को उनके आने की जानकारी दी गई थी. इन सभी के आते ही पुलिस ने उन्हें मेडिकल टीम द्वारा जांच कराया. मेडिकल टीम ने थर्मल स्कैनिंग के बाद उन सभी से स्वास्थ्य संबंधी कई जानकारी ली. उनमें किसी भी प्रकार का कोई कोरोनावायरस का लक्षण नजर नहीं आया.

चारों को 14 दिन आइसोलेशन में रखा जा रहा: कोतवाल



नगर कोतवाल राम सिंह ने बताया कि चारों मजदूरों का मेडिकल परीक्षण कराया गया है. साथ ही अब इनको 14 दिनों के आइसोलेशन में रखा जा रहा है. वहीं मजदूर आजाद और राकेश कुमार ने बताया कि हम चारों लोग सूरत में साड़ी बनाने वाली मशीन चलाने का काम करते हैं. लॉकडाउन लागू होने के बाद काम बंद हो गया. पास में जो रुपये-पैसे थे, वो भी खर्च हो गये. खाने-पीने के साथ कोरोनावायरस का डर सता रहा था जिस कारण हम पैदल ही निकल पड़े.
कई प्रदेशाें से पैदल निकल पड़े हैं मजदूर

बता दें कि देश भर में बड़ी संख्या में मजदूर कई प्रदेशों से अपने-अपने घरों के लिए निकल रहे हैं. सरकार द्वारा उनसे अपील की जा रही है कि वो इतनी लंबा यात्रा करने की जहमत न उठाएं. स्थानीय प्रशासन से मदद लें. इसके अलावा अब सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर मजदूरों को लाने का प्रबंध किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:

MP से लाए गए 1200 मजदूरों का प्रयागराज के कलेक्शन सेंटर में हाल देख उठे सवाल

UP COVID-19 Update: 63 जिलों में 2281 कोरोना पॉजिटिव केस, 1685 एक्टिव मामले
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading