बीजेपी सांसद ने मंत्री अनुपमा के खिलाफ पत्र लिखने से किया इनकार

सीएम को लिखे पत्र में आरोप लगाया गया है कि बच्चों के जूते-मोज़े के टेंडर में विभागीय मंत्री भारी अनियमितता कर रही हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 9, 2018, 4:11 PM IST
बीजेपी सांसद ने मंत्री अनुपमा के खिलाफ पत्र लिखने से किया इनकार
घोसी से बीजेपी सांसद हरिनारायन राजभर
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 9, 2018, 4:11 PM IST
घोसी से बीजेपी सांसद हरिनारायन राजभर ने प्रदेश की बेसिक शिक्षा, बाल विकास एवं पुष्टाहार मंत्री अनुपमा जायसवाल के खिलाफ मुख्यमंत्री को पत्र लिखने से इनकार किया है. उनका कहना है कि उन्हें नहीं पता कि किसने उनके लेटर हेड पर अनुपमा जायसवाल के खिलाफ भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए पत्र लिखा है. उन्होंने कहा कि वे इस मामले में एफआईआर भी दर्ज कराएंगे.

इससे पहले मीडिया में एक पत्र वायरल हुआ. जिसमें सांसद के लेटर हेड पर मंत्री अनुपमा जायसवाल के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की गई थी. सीएम योगी को लिखे पत्र में आरोप लगाया है कि मंत्री ने स्कूली बच्चों के जूते-मोज़े के टेंडर में हेराफेरी करते हुए करीबियों को फायदा पहुंचाया है. इतना ही नहीं पिछले दस महीने से मऊ जिले में पुष्टाहार नहीं बांटे जाने की शिकायत भी की है.

सीएम को लिखे पत्र में आरोप लगाया गया है कि बच्चों के जूते-मोज़े के टेंडर में विभागीय मंत्री भारी अनियमितता कर रही हैं. मंत्री अपने करीबियों को अनुचित लाभ दिला रही हैं. मऊ जिले में दस माह से बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग ने पौष्टिक आहार का वितरण नहीं किया है.

पत्र में कहा गया है कि सरकार ये योजनाएं गरीब व आम जनता को लाभ पहुंचाने के लिए संचालित करती है. लेकिन योजना का लाभ नहीं मिलने से सरकार की छवि धूमिल हो रही है. उन्होंने मुख्यमंत्री से मामले में त्वरित जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है.

(रिपोर्ट: अजीत प्रताप सिंह)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर