घोसी लोकसभा सीट से जीतने वाले इस 'भगोड़े' नेता का क्या होगा भविष्य?
Mau News in Hindi

घोसी लोकसभा सीट से जीतने वाले इस 'भगोड़े' नेता का क्या होगा भविष्य?
अतुल कुमार (फाइल फोटो)

दरअसल विजेता उम्मीदवार अतुल कुमार पर रेप के आरोप हैं. उन पर बलिया की एक युवती ने दुष्कर्म, धोखाधड़ी और धमकी देने समेत कई धाराओं में केस दर्ज कराया गया है और वह फरार चल रहे हैं.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश की घोसी लोकसभा सीट पर बहुजन समाज पार्टी के अतुल कुमार उर्फ अतुल राय ने जीत हासिल कर ली है. लेकिन सवाल ये खड़ा होता है कि रेप के आरोप में घिरे और जमानत याचिका खारिज होने के बाद 'भगोड़े' चल रहे इस नेता का भविष्य क्या होगा? फिलहाल पुलिस उन्हें काफी कोशिश के बाद भी पकड़ नहीं सकी है. पुलिस के अधिकारी भले अतुल कुमार की जल्द गिरफ्तारी का दावा कर रहे हैं, लेकिन रेप के आरोपी की गिरफ्तारी न हो पाने से सिस्टम पर सवाल खड़े होने लगे है. आपको बता दें अतुल राय ने हरिनारायण राजभर को 1,22,018 हजार मतों से हराया. इस सीट पर कुल 11,37,931 मत पड़े और अतुल कुमार को 5,72,258 मत मिले हैं.

वहीं, अतुल राय के मलेशिया भागने आशंका को देखते हुए पुलिस ने लुकआउट नोटिस जारी कर देश के सभी एयरपोर्ट अतिरिक्त सतर्कता बरतने को कहा है. पुलिस के मुताबिक गिरफ्तारी के डर से अतुल राय मलेशिया भागने की फ़िराक में है. एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने इस बात की पुष्टि की है.

यह उल्लेखनीय है कि विजेता उम्मीदवार अतुल कुमार पर रेप के आरोप हैं. उनपर बलिया की एक युवती ने दुष्कर्म, धोखाधड़ी और धमकी देने समेत कई धाराओं में केस दर्ज कराया है. युवती ने बनारस के लंका थाने में अतुल कुमार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. एफआईआर रिपोर्ट के अनुसार अतुल कुमार युवती को लंका स्थित एक अपार्टमेंट के फ्लैट में झांसा देकर ले गए और उनका यौन शोषण किया. युवती ने उनपर यह आरोप भी लगाया है कि वे दुष्कर्म की घटना के बाद उसे मुंह बंद रखने का दबाव बनाते रहे हैं.



बीएसपी के अतुल कुमार

युवती ने अपनी रिपोर्ट में यह भी कहा है कि अतुल ने कुछ महीने पूर्व युवती से दोस्ती की और उसे अपने साथ चितईपुर स्थित एक रेस्टोरेंट में ले गए और यहां पर उसे धोखे में रखकर शारीरिक शोषण किया और वीडियो बनाकर उसे प्रताड़ित करने लगे. पीड़ित युवती ने बीएसपी के नव निर्वाचित सांसद अतुल कुमार पर यह आरोप लगाया कि वह उसे जान से मारने की धमकी भी देते रहे है. यही वजह है कि युवती ने तंग आकर अपनी व्यथा सोशल मीडिया पर लिखी और ट्वीट के माध्यम से डीजीपी से इस बारे में शिकायत की.

इस बारे में अतुल का कहना है कि वर्ष 2015 से आरोप लगाने वाली युवती उनके ऑफिस में आती थी और चुनाव लड़ने के नाम पर मदद लेती थी. मैं कभी भी उससे ऑफिस के बाहर नहीं मिला हूं. मेरे लोकसभा में प्रत्याशी बन जाने के बाद वह मुझे वीडियो जारी करके ब्लैकमेल कर लेगी.

ये भी पढ़ें:

पीली साड़ी के बाद अब नीली ड्रेस वाली पोलिंग अफसर ने सुनाई अपनी कहानी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading