रेप केस में फरार गठबंधन प्रत्‍याशी अतुल राय पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, मांगी अग्रिम जमानत

घोसी लोकसभा सीट से सपा-बसपा गठबंधन प्रत्याशी अतुल राय ने रेप के मामले में सुप्रीम कोर्ट में 23 मई को मतगणना होने तक उन्हें गिरफ्तार नहीं करने की याचिका दायर की है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 15, 2019, 12:14 PM IST
रेप केस में फरार गठबंधन प्रत्‍याशी अतुल राय पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, मांगी अग्रिम जमानत
घोसी से बसपा प्रत्याशी अतुल राय (फाइल फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 15, 2019, 12:14 PM IST
रेप के मामले में फरार चल रहे उत्तर प्रदेश की घोसी लोकसभा सीट से सपा-बसपा गठबंधन प्रत्याशी अतुल राय ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. बसपा उम्मीदवार अतुल राय ने रेप के मामले में 23 मई को मतगणना होने तक उन्हें गिरफ्तार नहीं करने की याचिका दायर की है. जिस पर सुप्रीम कोर्ट 17 मई को सुनवाई करेगा. इससे पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट अतुल राय की याचिका खारिज कर चुका है.

अतुल राय की याचिका पर अवकाश पीठ की एक बेंच सुनवाई करेगी. पीठ में न्यायमूर्ति संजीव खन्ना और न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी हैं. राय के वकील ने अपनी याचिका में अवकाश पीठ से अग्रिम जमानत की याचिका मंजूर करने और तत्काल सुनवाई का आग्रह किया था. बता दें कि बसपा प्रत्याशी के खिलाफ वाराणसी के एक पुलिस थाने में एक कॉलेज छात्रा द्वारा एक मई को प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. जिसके बाद से राय फरार हैं. पीड़िता ने आरोप लगाया है कि राय ने उनका यौन शोषण किया है.

वहीं, अतुल राय के मलेशिया भागने आशंका को देखते हुए पुलिस ने लुकआउट नोटिस जारी कर देश के सभी एयरपोर्ट अतिरिक्त सतर्कता बरतने को कहा है. पुलिस के मुताबिक गिरफ्तारी के डर से अतुल राय मलेशिया भागने की फ़िराक में है. एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने इस बात की पुष्टि की है.

हाईकोर्ट से नहींं मिली राहत

वाराणसी की लंका पुलिस भी अतुल राय के घर कुर्की की कार्रवाई की तैयारी में जुटी है. बता दें बलिया निवासी यूपी कॉलेज की पूर्व छात्रा की तहरीर पर गत 1 मई को अतुल राय के खिलाफ दुष्कर्म सहित अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज किया गया था. गिरफ्तारी से बचने के लिए अतुल राय ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की लेकिन कोई राहत नहीं मिली.

क्या है मामला?
वाराणसी की एक पूर्व छात्रा ने अतुल राय पर रेप का आरोप लगाया है. छात्रा का आरोप है कि राय अपनी पत्नी से मिलाने के लिए उसे अपने घर ले गए, जहां उन्होंने उसका यौन उत्पीड़न किया. राय ने अपने लगे आरोप से इंकार किया है, लेकिन गत एक मई को उनके खिलाफ केस दर्ज हो गया. मामले की गंभीरता को देखते हुए न्यायालय ने उनकी गिरफ्तारी के लिए गैर जमानती वारंट जारी कर दिया. बताया जा रहा है कि पुलिस से बचने के लिए राय भूमिगत हो गए हैं. इधर, पुलिस उन्हें दबोचने के लिए मऊ और आस-पास के जिलों में दबिश दे रही है.ये भी पढ़ें-

श्रीप्रकाश शुक्ला: एक साधारण सा लड़का कैसे बन गया इंडियाज मोस्ट वांटेड

पीली साड़ी के बाद अब नीली ड्रेस वाली पोलिंग अफसर ने सुनाई अपनी कहानी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार