अब माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के शार्पशूटर अंकुर राय सहित 10 लोगों पर लगा गैंगस्टर एक्ट

माफिया डॉन मुख़्तार अंसारी

लगातार चोथी बार मुख्तार गिरोह पर पुलिस का शिकंजा कसा है. सबसे पहले अवैध वसूली गैंग, फिर बूचड़खाना गैंग, मछली गैंग के बाद अब हत्यारा गैंग पर शिकंजा कसा गया है.

  • Share this:
मऊ. जनपद के सदर विधानसभा के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) गैंग पर जनपद पुलिस (Police) ने शुक्रवार को चौथी बार शिकंजा कसा. मुख्तार अंसारी गैंग के सरगना अंकुर राय (Ankur Rai) सहित 10 लोगों पर गैंगस्टर एक्ट (Gangster Act) की कार्रवाई की गई है. लगातार चोथी बार मुख्तार गिरोह पर पुलिस का शिकंजा कसा है. सबसे पहले अवैध वसूली गैंग, फिर बूचड़खाना गैंग, मछली गैंग के बाद अब हत्यारा गैंग पर शिकंजा कसा गया है.

पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि जिले के कोपागंज थाने के सहरोज गांव निवासी हिस्ट्रीशीटर अपराधी व शार्पशूटर अंकुर राय, हिस्ट्रीशीटर मनीष राय, हिस्ट्रीशीटर अखण्ड राय, दिव्यांशु राय, किफ़ायतुललाह व 06 अन्य के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्यवाई की गई है. सभी दस अपराधी वर्तमान में जेल में बंद हैं. अंकुर राय व उसके गैंग के 09 अन्य साथियों द्वारा 06 मई को सहरोज गांव में ग्राम प्रधान पूनम राय व उनके देवर योगेश राय के परिवार पर जानलेवा हमला किया था. जिसके सम्बन्ध में योगेश राय की तहरीर पर थाना कोपागंज पर मुकदमा भी दर्ज हुआ था. ये सभी 10 अपराधी इसी अपराध में घटना के बाद विभिन्न तिथियो में गिरफ्तार कर जेल भेजे गए हैं. इनमें 5 पर इनाम भी घोषित किया गया था और फिर गिरफ्तार किया गया.

सभी जेल में हैं बंद

बता दें कि अंकुर राय, मनीष राय और किफ़ायतुल्लाह पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित था. जबकि अखण्ड राय और दिव्यांशु राय पर 15-15 हजार रुपये का इनाम घोषित था. हिस्ट्रीशीटर अंकुर राय व मनीष राय ने वर्ष 2010 में पूर्व विधायक कपिल देव यादव हत्याकांड में मुख्य अभियुक्त था. अंकुर राय मुख्तार अंसारी गैंग के शूटर अंगद राय के भाई का दामाद है. अंकुर राय के मुख्तार अंसारी गैंग के शूटर अंगद राय व गोरा राय दोनों से पारिवारिक व आपराधिक सम्बंध हैं. अंगद राय वर्तमान में सजायाफ्ता अपराधी है व सोनभद्र जेल में निरुद्ध है.

लगातार हो रही कार्रवाई

फिलहाल विधायक मुख्तार अंसारी गिरोह IS 191 के सहयोगी D-60 हत्यारा गैंग के सरगना अंकुर राय व 9 अन्य आपराधिक सहयोगियों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट की कार्यवाई जनपद पुलिस ने कर दिया है. लगातार चोथी बार मुख्तार गिरोह पर पुलिस का शिकंजा कसा है. सबसे पहले अवैध वसूली गैंग, बूचड़खाना गैंग, मछली गैंग के बाद हत्यारा गैंग पर शिकंजा कसा गया है. इसके अलावा जनपद पुलिस अपराध और अपराधियों का इतिहास खंगाल कर मुख्तार अंसारी से जुड़े तमाम आम और खास पर शिकंजा कस कर अपराध को जड़ से खत्म करने की मुहीम में है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.