बाहुबली मु्ख्तार अंसारी के अवैध वसूली गैंग पर पुलिस का शिकंजा, रिश्तेदार सहित 11 पर इनाम
Mau News in Hindi

बाहुबली मु्ख्तार अंसारी के अवैध वसूली गैंग पर पुलिस का शिकंजा, रिश्तेदार सहित 11 पर इनाम
पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य

मऊ (Mau) के एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि 31 मई 2020 को यूपी गैंगस्‍टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

  • Share this:
मऊ. जेल में बंद बाहुबली मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के अवैध वसूली गैंग पर उत्तर प्रदेश के मऊ में पुलिस ने शिकंजा कस दिया है. मामले में कई थाने में एफआईआर दर्ज की गई है और अवैध वसूली में लिप्त मुख्तार अंसारी के रिश्तेदार सहित 11 के खिलाफ 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है.

जिले के एसपी अनुराग आर्य ने बताया कि 31 मई 2020 को इऩ लोगों के खिलाफ यूपी गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया. इसमें मुख्य गैंग लीडर सऊद अब्बासी के साथ सुरेश सिंह व धीरज राय समेत कुल 13 लोग थे. जिनमें से 11 अभियुक्तों के खिलाफ 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया. इनमें सुरेश सिंह, सऊद अब्बासी, शिवेन्द्र कुमार सिहं, समर बहादुर, अश्वनी कुमार सिंह, झिनकू सिंह, महेन्द्र चौहान, मखंचू यादव, संतोष कुमार, मान्धाता शुक्ला और धीरज राय हैं. इनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें लगी है. उन्होंने बताया कि सऊद अब्बासी, सुरेश सिंह व धीरज राय को अवैध वसूली माफिया के रूप में चिन्हित किया गया है. इऩ सभी के गैंग के पंजीकरण की कार्रवाई की जा रही है.

ठेका लिया टैक्सी स्टैंड का वसूली पूरे जिले में
पुलिस अधीक्षक के अऩुसार वर्ष 2019-20 के लिए नगर पालिका के टैक्सी स्टैण्ड के नाम पर टेंडर लेकर पूरे जिले में समस्त प्रकार के वाहनों से वसूली कर रहे व्यक्तिों के खिलाफ 3 तीन मुकदमें नगर कोतवाली, सरायलखंसी और दक्षिण टोला थाने में दर्ज किया गया है. कुल 11 अभियुक्तों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हुआ. इन सभी को गिरफ्तार कर उस समय जेल भी भेजा गया. एसपी के अनुसार इस गैंग में सरगना सुरेश व परोक्ष रूप से वसूली का धन इकट्ठा करने वाले व्यक्ति सऊद अब्बासी, जो गाजीपुर के निवासी हैं और मुख्तार अंसारी विधायक के रिश्तेदार  हैं. इन्हें भी जेल भेजा गया.
ठेका निरस्त, गैंग ने दोबारा फिर टेंडर हासिल किया 



एसपी ने बताया कि मामले में कुल 65 लाख 51 हजार के इस ठेके को निरस्त भी किया गया है. 2019 नवम्बर में नगर पालिका ने फिर से टेंडर कराया, जिसका ठेका धीरत राय नाम के व्यकित को 75 लाख में प्राप्त किया गया. धीरज राय भी इसी गैंग से संबंध रखने वाला था. इसको और इसके सहयोगी मान्धाता शुक्ला व महेन्द्र चौहान को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया. इन सभी प्रकरणों में विवेचना पूर्ण करते हुए इनके विरुद्ध गैगेस्टर की कार्यवाही इसी माह में की गई.

ये हैं आरोपी

31 मई 2020 को इऩ लोगों के खिलाफ यूपी गैगेस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया. इसमें मुख्य गैंग लीडर सऊद अब्बासी के साथ सुरेश सिंह व धीरज राय समेत कुल 13 लोग थे. जिनमें से 11 अभियुक्तों के खिलाफ 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया. इनमें सुरेश सिंह, सऊद अब्बासी, शिवेन्द्र कुमार सिहं, समर बहादुर, अश्वनी कुमार सिहं, झिनकू सिंह, महेन्द्र चौहान, मखंचू यादव, संतोष कुमार, मान्धाता शुक्ला और धीरज राय हैं. इनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें लगी है. उन्होंने बताया कि सऊद अब्बासी, सुरेश सिंह व धीरज राय को अवैध वसूली माफिया के रुप में चिन्हित किया गया है. इऩ सभी के गैंग के पंजीकरण की कार्य़वाही की जा रही है.

ताबड़तोड़ छापेमारी जारी

फिलहाल जिले के कप्तान अनुराग आर्य की अगुवाई में जनपद पुलिस अपराधियों को लगातार सलाखों के पीछे डालने का काम कर रही है. जिले के छोटे से लेकर बाहुबली की छाया में अपने अपराध की दुकान को चलाने वालों पर पुलिस का शिकंजा लगातार बढ़ता जा रहा है. इसी क्रम में एसपी की टीम ने बाहुबली बसपा विधायक मुख्तार अंसारी के अवैध वसूली वाले गैंग पर भी कानून का हथौड़ा मारा है. इनाम घोषित होने के बाद पुलिस टीम इन सभी की गिरफ्तारी करने में जुटी हुई है.

ये भी पढ़ें:

69000 शिक्षक भर्ती में शामिल सहायक अध्यापकों को बड़ी राहत, HC ने काउंसलिंग में शामिल करने का दिया आदेश

बहू से हुआ झगड़ा तो 60 फीट के कुएं में कूदी महिला, पुलिस ने ऐसे बचाई जान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading