UP: पेशी के दौरान मुख्तार अंसारी ने की शिकायत, कहा- कूलर तो मिल चुका है लेकिन...

 मुख्तार अंसारी  ने लगाया बड़ा आरोप. (फाइल फोटो)

मुख्तार अंसारी ने लगाया बड़ा आरोप. (फाइल फोटो)

Mukhtar Ansari Latest News: उत्तर प्रदेश के बांदा जेल (Banda Jail) में सजा काट रहे मुख्तार अंसारी ने आरोप लगाया है कि उन्हें परिजन और अपने वकील से बात करने नहीं दिया जा रहा है.

  • Share this:

 मऊ. फर्जी पते से लिए गए असलहे में की गई पैरवी के मामले में आरोपी मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) की पेशी शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से बांदा जेल से हुई. इस दौरान मुख्तार अंसारी ने न्यायिक/रिमांड मजिस्ट्रेट उत्कर्ष सिंह को बताया कि उन्हें मच्छरदानी और कूलर 9 अप्रैल को मिल चुका है. लेकिन परिजनों से बात नहीं कराई जा रही है और न ही अधिवक्ता से बात कराई जा रही है. जबकि कोविड संक्रमण के चलते जेल में मुलाकात बंद है लेकिन शासन का जनरल आदेश आया है कि परिजनों से पीसीओ से बात कराई जा सकती है.

मुख्तार अंसारी ने आरोप लगाया कि जो सुविधाएं उन्हें जेल मे मिलनी चाहिए नहीं दी जा रही है. सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर उनके स्वास्थ्य की जांच मेडिकल बोर्ड से हुई है. मेडिकल बोर्ड  की जांच मे भी डॉक्टर ने जो सलाह दी है, उसका भी पालन जेल अधीक्षक द्बारा नहीं किया जा रहा है. बांंदा जेल से मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट भेजी गई है. उसका अवलोकन कर जो डॉक्टर ने सलाह दिया है ,उसका अनुपालन करने का आदेश जेल अधीक्षक बांदा को दिया जाए.

26 मई को होगी सुनवाई

न्यायिक मजिस्ट्रेट उत्कर्ष सिंह ने अभियोजन अधिकारी और मुख्तार अंसारी के अधिवक्ता दारोगा सिंह के तर्कों को सुनने के बाद मुख्तार अंसारी का  न्यायिक अभिरक्षा का रिमांड स्वीकृत करते हुए सुनवाई के लिए 26 मई की तिथि तय की है. मामला दक्षिण टोला थाना क्षेत्र का है. अभियोजन के अनुसार तत्कालीन थानाध्यक्ष दक्षिण टोला निहार नंदन कुमार की तहरीर पर 5 जनवरी 2020 को आयुध अधिनियम और जालसाजी के मामले में रिपोर्ट दर्ज हुई.  इसमें मुख्तार अंसारी सहित सात लोगों को आरोपी बनाया गया है. आरोप है कि मुख्तार अंसारी ने जिन लोगों के असलहा लाइसेंस के लिए जिलाधिकारी को अपने लेटर पैड पर पत्र लिखकर लाइसेंस जारी करने की सिफारिश करता था.
ये भी पढ़ें: UP: योगी सरकार का ऐलान, गांवों और वार्डों को कीजिए कोरोना मुक्त और पाइए पुरस्कार

इस पर जिलाधिकारी ने उन लोगों का लाइसेंस जारी  किया था. बाद में जांच के बाद जिन लोगों के नाम असलहा लाइसेंस जारी किया गया था उनका नाम पता फर्जी पाया गया. जिस पर मुख्तार अंसारी सहित सात लोगों के विरुद्ध दक्षिणटोला थाना में रिपोर्ट दर्ज हुई. पुलिस ने विवेचना के बाद मुख्तार अंसारी सहित सभी के खिलाफ आरोप पत्र सीजेएम कोर्ट मे पेश किया. इस मामले में शुक्रवार को बादा जेल में बंद मुख्तार अंसारी की वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से  पेशी हुई.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज