लाइव टीवी

सरकार का फरमान- छात्रों के साथ 3 बार भेजनी होगी सेल्फी, नाराज हुए शिक्षक

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 5, 2019, 5:41 PM IST
सरकार का फरमान- छात्रों के साथ 3 बार भेजनी होगी सेल्फी, नाराज हुए शिक्षक
शिक्षकों ने कहा कि वे सरकार से वादा करते हैं कि वह पहले से और बेहतर छात्रों को शिक्षा देने का काम करेंगे, लेकिन इस एप को हटा कर शिक्षकों को मानसिक उलझनों से बचने में मदद की जाए.

शिक्षकों ने कहा कि वे सरकार से वादा करते हैं कि वह पहले से और बेहतर छात्रों को शिक्षा देने का काम करेंगे, लेकिन इस ऐप को हटा कर शिक्षकों को मानसिक उलझनों से बचने में मदद की जाए.

  • Share this:
मऊ. शिक्षक दिवस (Teachers Day) के अवसर पर यूपी सरकार द्वारा शिक्षकों के लिए शुरू किए गए प्रेरणा ऐप (Prerna App) और प्रेरणा वेब पोर्टल (Prerna Web Portal) को लॉन्च किए जाने के विरोध में पूरे उत्तर प्रदेश के साथ-साथ यूपी के मऊ में भी शिक्षकों ने प्रदर्शन किया. यहां शिक्षकों ने इस दिवस को शिक्षक सम्मान बचाओ दिवस के रुप में मनाया. साथ ही जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्य़ालय पर प्रदर्शन कर इस ऐप को हटाने की मांग की है.

ये भी पढ़ें: तहसील समाधान दिवस में व्यस्त थे पुलिस अधिकारी, घर में हो गयी लाखों की चोरी

प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों ने बताया कि इस ऐप के तहत शिक्षकों, शिक्षिकाओं और छात्राओं के निजता का हनन होगा. ऐप के माध्यम से स्कूल में तीन टाइम छात्रों के साथ सेल्फी भेजने का नियम है. जिसकी वजह से शिक्षक को हमेशा मानसिक परेशानियों से गुजरना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि कुछ विद्यालय ऐसे भी है जहां पर नेटवर्क की समस्या भी बनी रहती है. जिससे अध्यापक छात्रों के शिक्षा देने के जगह सेल्फी को ऐप पर भेजने में ही परेशान रहेंगे. कुल मिलाकर सरकार की इस मंशा से शिक्षकों को परेशानी होगी.

सीएम योगी को सौंपेंगे ज्ञापन

वहीं शिक्षकों ने कहा कि वे सरकार से वादा करते हैं कि वह पहले से और बेहतर छात्रों को शिक्षा देने का काम करेंगे, लेकिन इस ऐप को हटा कर शिक्षकों को मानसिक उलझनों से बचने में मदद की जाए. उन्होंने बताया कि इसके बाद 11 और 12 सितम्बर को हम लोग प्रदर्शन करने के बाद 13 को विशाल प्रदर्शन कर जिलाधिकारी के माध्यम से सीएम योगी को ज्ञापन सौपेगे.

मथुरा में भी हुआ जमकर विरोध
वहीं शिक्षकों का ये विरोध मथुरा में भी देखने को मिला जहां सभी प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों ने मथुरा के बीएसए कार्यालय पर जमकर नारेबाजी की और ऐप का विरोध किया साथ ही शिक्षक दिवस को शिक्षक सम्मान बचाओ दिवस के रूप में मनाया. वहीं इन सब शिक्षकों का कहना है कि हमें प्रेरणा ऐप को अपनाने के लिए तैयार हैं, लेकिन शिक्षकों के साथ-साथ यह ऐप, सफाई कर्मचारी से लेकर सचिवालय तक सभी पर लागू किया जाना चाहिए.
Loading...

उन्होंने कहा कि सरकार, शिक्षकों पर ऐप के माध्यम से निगरानी रखना चाहती है, जोकि शिक्षक किसी भी कीमत पर इसे लागू नहीं होने देंगे. विरोध करने पहुंचें एक शिक्षक का कहना है कि तीन बार सेल्फी खींच कर देना मानव अधिकार का हनन है. इसलिए हम हरगिज सेल्फी नहीं देंगे. इन सभी शिक्षकों का कहना है कि पहले हमारी तमाम मांगें पूरी करें उसके बाद ही इस ऐप को लागू करें.

ये भी पढ़ें: यूपी विधानसभा उपचुनावों के लिए भी बीजेपी को PM मोदी का सहारा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 5:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...