Home /News /uttar-pradesh /

Mau Assembly Seat: बाहुबली मुख्‍तार अंसारी का 25 साल से कब्जा, महज 133 वोटों से हार गए थे नकवी

Mau Assembly Seat: बाहुबली मुख्‍तार अंसारी का 25 साल से कब्जा, महज 133 वोटों से हार गए थे नकवी

UP Chunav 2022: बाहुबली मुख्तार अंसारी की सीट है मऊ.

UP Chunav 2022: बाहुबली मुख्तार अंसारी की सीट है मऊ.

Mau Assembly Seat: मऊ सदर विधानसभा सीट पर मुस्‍लिम मतदाताओं का वर्चस्‍व है. इस सीट पर 25 साल से बाहुबली मुख्‍तार अंसारी का कब्‍जा है. 1991 के राम लहर में भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी मात्र 133 वोट से चुनाव हार गए थे.

अधिक पढ़ें ...

मऊ. मऊ सदर विधानसभा सीट पर बाहुबली मुख्‍तार अंसारी का दबदबा है. वह लगातार 25 साल से इस सीट से विधायक है. मुख्‍तार ने पहल चुनाव 1996 में बसपा से जीता था. इसके बाद 2002 और 2007 में निर्दलीय विधायक बना. 2012 में वह अपनी कौमी एकता दल से विधानसभा पहुंचा था. 2017 में फिर बसपा के टिकट पर जीत दर्ज की थी. मुस्‍लिम मतदाताओं की वर्चस्‍व वाली इस सीट पर 1980 से लगातार मुस्‍लिम समाज से ही विधायक निर्वाचित हो रहे हैं. राम लहर में भाजपा ने भी यहां से मुख्‍तार अब्‍बास नकवी को चुनावी मैदान में उतारा, लेकिन सफलता नहीं मिली. सपा भी इस सीट पर अब तक नहीं जीत पाई है.

मऊ सदर विधानसभा सीट पर पहला चुनाव 1957 में हुआ था. पहली बार यहां से दो विधायक चुने गए थे. दोनों कांग्रेस से ही जीते थे. इसके बाद एक बार और 1963 में कांग्रेस जीती, जो इस सीट पर उसकी आखिरी जीत थी. 1968 में जनसंघ के बीएमडी अग्रवाल ने यह सीट कांग्रेस से छीन ली थी. इसके बाद इस सीट पर न तो जनसंघ जीता और न ही अब तक भाजपा जीत पाई है. 1969 में चौधरी चरण सिंह के भारतीय क्रांति दल से हबीबुर्रहमान ने जीत दर्ज की थी. वह इस सीट से जीतने वाले पहले मुस्‍लिम थे. 1974 में यहां से सीपीआई के अब्‍दुल बाकी जीतकर विधानसभा पहुंचे. 1977 में जनता पार्टी से रामजी ने जीत दर्ज की थी. 1980 में निर्दलीय खैरुल बशर ने परचम फहराया. 1985 में सीपीआई के अकबाल अहमद, 1989 में बसपा के मोबिन ने जीत दर्ज की थी. 1991 की राम लहर में इस सीट पर अपने नेता मुख्‍तार अब्‍बास नकवी को चुनाव लड़ाया था, लेकिन वह सीपीआई के इम्‍तियाज अहमद से मात्र 133 वोट से चुनाव हार गए थे. 1993 में फिर यह सीट बसपा के पास चली गई. उस चुनाव में बसपा के नसीम से मुख्‍तार अब्‍बास नकवी 10 हजार से अधिक वोटों से हारे थे. 1996 से यहां मुख्‍तार अंसारी का वर्चस्‍व कायम हो गया.

2017 का परिणाम
बसपा के मुख्‍तार अंसारी को 96793 वोट मिले थे. मुख्‍तार ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के महेंद्र राजभर को 8698 वोट से हराया था. राजभर को 88095 वोट मिले थे. 72016 वोट लेकर सपा के अल्‍ताफ अंसारी तीसरे स्‍थान पर रहे थे. 4.42 लाख मतदाताओं वाली मऊ सदर विधानसभा सीट पर करीब 1.70 लाख मुस्‍लिम वोटर हैं. दलित 91 हजार, यादव व राजभर 45-45 हजार, क्षत्रिय 18 हजार और ब्राह्मण वोटर लगभग 6 हजार हैं.

Tags: UP Election 2022, UP Vidhan sabha chunav, Uttar Pradesh Assembly Elections

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर