लाइव टीवी

अयोध्या पर फैसले के बाद मेरठ में माहौल खराब करने का प्रयास नाकाम, पुलिस ने 7 को दबोचा

Umesh Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 9, 2019, 6:38 PM IST
अयोध्या पर फैसले के बाद मेरठ में माहौल खराब करने का प्रयास नाकाम, पुलिस ने 7 को दबोचा
अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद मेरठ में माहौल खराब करने का प्रयास करने वाले 7 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया.

अयोध्या (Ayodhya Verdict) मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मेरठ (Meerut) में सोशल मीडिया (Social Media) के जरिए सांप्रदायिक सौहार्द (Communal Harmony) का माहौल खराब करने वाले 7 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया.

  • Share this:
मेरठ. अयोध्या (Ayodhya Verdict) मामले पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का फैसला आने से पहले उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रखने के आदेश दिए गए थे. राज्य प्रशासन ने सांप्रदायिक सौहार्द (Communal Harmony) का माहौल खराब करने वालों पर पुलिस को विशेष नजर रखने का निर्देश दिया था. खासकर सोशल मीडिया (Social Media) के जरिए भड़काऊ पोस्ट शेयर कर माहौल खराब करने वालों की निगरानी की विशेष तौर पर ताकीद की गई थी. इसी क्रम में शनिवार को मेरठ (Meerut) में पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद माहौल खराब करने की कोशिश करने वाले 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनमें से एक को जहां सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट के मामले में पकड़ा गया है, वहीं 6 अन्य लोगों को फैसले के बाद पटाखे जलाने के आरोप में पुलिस ने दबोचा है.

दो थाना क्षेत्रों से हुई गिरफ्तारी
अयोध्या मामले में आए फैसले को लेकर मेरठ में जिन 7 लोगों को दो थाना क्षेत्रों से गिरफ्तार किया गया है. मेरठ के सिविल लाइन ब्रम्हपुरी और नौचंदी थाने से ये गिरफ्तारियां हुई हैं. मेरठ के एसएसपी अजय साहनी का कहना है कि कानून व्यवस्था पूरे ज़िले में चाक चौबंद है. सोशल मीडिया की विशेष निगरानी की जा रही है. शहर के विभिन्न इलाकों में पैदल मार्च भी किया गया. आरएएफ, सीआरपीएफ और पीएसी के जवान मुस्तैदी के साथ चौराहों पर डटे हैं. एसएसपी ने कहा कि मेरठ पुलिस ने बीते एक महीने से कड़ी मशक्कत कर फुलप्रूफ प्लानिंग की है. इसी स्ट्रैटजी का नतीज़ा है कि मेरठ में हर ओर शांति का ही माहौल रहा. बीते कई दिनों से मेरठ पुलिस विभिन्न धर्मों के लोगों के साथ पीस कमेटी की बैठकें कर रही थीं. इन चर्चाओं का नतीज़ा रहा कि फैसले के बाद हर ओर शांति नज़र आई. इस शांति को भंग करने वालों पर लगातार नजर रखी जा रही थी. इसी कारण शनिवार को माहौल खराब करने की कोशिश करने वाले 7 लोग गिरफ्तार कर लिए गए.

मेरठ के लोगों ने फैसले को सराहा

अयोध्या पर फैसला आने के बाद मेरठ की जनता ने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय की सराहना की है. मेऱठ में हिन्दू-मुस्लिम सभी संप्रदायों के लोगों ने एक सुर में सुप्रीम कोर्ट के फैसले की तारीफ की. आम लोगों ने कहा कि सर्वोच्च अदालत का फैसला सिर माथे पर है. हालांकि अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार सुबह से ही किया जा रहा था. चाय की दुकान हो या बस अड्डा या फिर गली-नुक्कड़, हर जगह इसी मामले पर लोग आपस में बातचीत कर रहे थे. इस दौरान जगह-जगह तैनात पुलिस के जवान भी हर गतिविधि पर नजर बनाए हुए थे. सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद लोगों ने कहा कि वर्षों से लंबित मामले का सुप्रीम कोर्ट ने निपटारा कर दिया है, इससे बड़ी सुकून की बात और कुछ नहीं है.

ये भी पढ़ें -

अयोध्या में अब क्या : इन शर्तों के साथ सुप्रीम कोर्ट ने रामलला को दिया है विवादित जमीन का स्वामित्व
Loading...

विवादित भूमि पर राम मंदिर, मस्जिद के लिए अयोध्या में दूसरी जमीन- 10 बिंदुओं में समझें सुप्रीम कोर्ट का पूरा फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 6:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...