बागपत: 13 साल बाद ​सामूहिक हत्याकांड के 8 दोषियों को आजीवन कारावास

ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 12, 2017, 6:51 PM IST
बागपत: 13 साल बाद ​सामूहिक हत्याकांड के 8 दोषियों को आजीवन कारावास
सजा सुनाए जाने के बाद जेल ले जाए जाते हत्याकांड के दोषी. Photo : ETV Network
ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 12, 2017, 6:51 PM IST
बागपत के एडीजे प्रथम कोर्ट ने सामूहिक हत्याकांड के 8 आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. रमाला के केरठल गांव मे चुनावी रंजिश को लेकर हुई 4 लोगों की हत्या मामले मे गुरुवार को कोर्ट ने ये फैसला सुनाया.

बता दें कि 28 अप्रैल 2004 को थाना रमाला के ग्राम केरठल में प्रधानी के चुनाव को लेकर 4 लोगों क्रमशः रामपाल सिंह, सतवीर सिंह, हरेन्द्र सिंह व श्रीमती सोनिया पत्नी हरेन्द्र सिंह की घर में घुसकर सामूहिक रूप से हत्या कर दी गई थी. इस मामले में 10 अभियुक्त नामजद किए गए थे.

मुकदमे की 13 साल चली लंबी सुनवाई के दौरान 4 आरोपियों की मौत हो गई. घटना के बाद पीड़ित पक्ष धर्मेन्द्र किरठल की ओर से 10 लोगों के खिलाफ रंजिशन हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया था. इसमें रमाला पुलिस ने सभी की गिरफ्तारी कर ली थी.

कई साल की सुनवाई के बाद गुरुवार को एडीजे प्रथम कोर्ट ने 8 दोषियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई. इनमें भोपाल, करन, रामपाल, सुबोध, रामफल, पदम सिंह, सुधीर और ओमपाल शामिल हैं. सजा सुनाए जाने के बाद पीड़ित पक्ष ने खुशी जाहिर की है.
First published: October 12, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर