अब मेरठ की सड़कों पर नहीं दिखेगा बैंड, बाजा, बारात

मेरठ पुलिस अब शादियों के कारण रोड़ पर लगने वाली ट्रैफिक जाम के खिलाफ सख्त हो गई है.

HARISH SHARMA | ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 12, 2017, 1:23 PM IST
HARISH SHARMA | ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 12, 2017, 1:23 PM IST
शादियों का सीजन जल्द शुरू होने वाला है, शादी का मतलब बैंड-बाजा, बारात और नागिन डांस. पर अब हम आपको जो खबर बताने जा रहे हैं उसे जानकर आपको धक्का लग सकता है. प्रशासन अब शादियों के कारण रोड़ पर लगने वाली ट्रैफिक जाम के खिलाफ सख्त हो गई है.

कमिश्नर प्रभात कुमार ने मंडल के सभी जिलाधिकारियों को एक पत्र के माध्यम से निर्देशित किया है कि सड़क पर बैंड बाजे के साथ यदि दूल्हा घोड़ी पर चढ़ता नजर आए तो तत्काल संबंधित विवाह मंडप को सील कर दिया जाए.

कमिश्नर ने अपने पत्र में जिक्र किया है कि अगर मंडपों के अंदर पार्किंग की व्यवस्था नहीं होगी तो ट्रैफिक पुलिस ऐसे मंडपों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करे.

प्रशासन का कहना है कि शहर के सभी मुख्य मार्गों पर विवाह मंडप बने हुए हैं. शादियों के सीजन में बारात की चढ़त के साथ ही मंडपों के बाहर लगने वाली पार्किंग से जाम की समस्या सबसे ज्यादा गंभीर होती है जिससे जनता को परेशानी होती है.



इस आदेश के खिलाफ कई भाजपा नेता और विवाह मंडप के मालिक बुद्धवार को कमिश्नर से मिले. उधर इस मामले को लेकर जब आम जनता से बातचीत की तो उनका साफ तौर पर कहना है कि कमिश्नर का आदेश बेहद सराहनीय है.

सड़कों पर होने वाली पार्किंग से आए दिन जाम की समस्या रहती है. ऐसे में आम जनता और ट्रैफिक पुलिस दोनों ही परेशान हो जाते हैं, जबकि लाखों रुपए की रकम लेने के बाद भी मंडप के मालिक विवाह के समय पर पार्किंग के लिए कोई व्यवस्था नहीं कराते.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर