Home /News /uttar-pradesh /

आखिर घोड़ाें ने क्यों लगा दिया पूरे मेरठ शहर में जाम, जानें अंदर की बात

आखिर घोड़ाें ने क्यों लगा दिया पूरे मेरठ शहर में जाम, जानें अंदर की बात

मेरठ के कमिश्नरी पार्क चौराहे पर दर्जनों घोड़ों ने जाम लगा दिया.

मेरठ के कमिश्नरी पार्क चौराहे पर दर्जनों घोड़ों ने जाम लगा दिया.

Meerut News: मेरठ के कमिश्नरी पार्क चौराहे पर दर्जनों घोड़ों ने जाम लगा दिया. घोड़े और तांगे की वजह से सुबह से शाम तक चौराहे पर जाम की स्थिति रही. इस जाम को समाप्त कराने में पुलिस के भी पसीने छूट गए. प्रजापति महासंघ उत्तर प्रदेश के तत्वावधान में मेरठ जनपद के कुम्हार समाज ने मेरठ के चौधरी चरण सिंह पार्क पर धरने में शामिल हुए. प्रजापति समाज के लोग तो पार्क के अंदर चले गए, लेकिन घोड़ों को चौराहे पर ही छोड़ दिया. इससे लोगों को खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ा.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. ये खबर सुनने में अटपटी लग सकती है, लेकिन हुआ कुछ ऐसा ही है. मेरठ के कमिश्नरी पार्क चौराहे पर दर्जनों घोड़ों ने जाम लगा दिया. जिधर निगाह डालिए उधर ही घोड़ा और तांगा खड़े दिखाई दिए. घोड़े और तांगे की वजह से सुबह से शाम तक चौराहे पर जाम की स्थिति रही. इस जाम को समाप्त कराने में पुलिस के भी पसीने छूट गए. दरअसल, प्रजापति महासंघ उत्तर प्रदेश के तत्वावधान में मेरठ जनपद के कुम्हार समाज ने मेरठ के चौधरी चरण सिंह पार्क पर धरने का आयोजन किया. अपनी विभिन्न मांगों को लेकर प्रजापति समाज के लिए तांगा और घोड़ा गाड़ी लेकर आए. लोग तो पार्क के अंदर आ गए, लेकिन घोड़ों को चौराहे पर ही छोड़ दिया. इसके बाद लोगों को खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ा.

चौधरी चरण सिंह पार्क मेरठ कमिश्नरी पर प्रजापति समाज के लोगों ने धरना-प्रदर्शन किया. कार्यक्रम स्थल पर धरने को संबोधित करते हुए महासंघ के अध्यक्ष दारा सिंह प्रजापति ने कहा कि कुम्हार समाज को अनुसूचित जाति में शामिल करने की दशकों पुरानी मांग अभी सिर्फ मांग ही है. समाज को वर्षों से कुछ मिला तो सिर्फ आश्वासन. दारा सिंह ने कहा कि प्रजापति समाज ने इस धरने का आयोजन कर दलों को यह संदेश देने का प्रयास किया है.

राजनीतिक दल हमारी जाति को अनुसूचित आति में शामिल करने की मांग को अपने घोषणा पत्र में स्थान देगा. यह कुम्हार जाति उस राजनीतिक दल को जिताने का भरसक प्रयास करेगी. दारा सिंह प्रजापति ने कहा कि वर्ष 2013 में कुम्हारों के एक कार्यक्रम में उस समय के भाजपा के अध्यक्ष व वर्तमान में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था अगर उनकी सरकार केन्द्र व उत्तर प्रदेश दोनों जगह आ जाती है तो कुम्हारों को अनुसूचित जाति में शामिल करने की सभी बाधाओं को दूर करेंगे. दोनों जगह भाजपा सरकार आने के बाद स्थिति जस की तस बनी हुई है.

उठाई गईं ये मांगें

इस रैली में जो मांगें उठाई गईं उनमें प्रजापति समाज को शिल्पकार वर्ग के अन्तर्गत अनुसूचित जाति के जाति प्रमाण पत्र जारी किये जाने की मांग की गई. इसके साथ ही पिछड़े वर्ग की अलग से जातीय गणना कराने, कुम्हार समाज की अलग से राजनीतिक हिस्सेदारी तय करने, केन्द्र व राज्यों की सरकारें राजकीय सेवाओं में कुम्हारों के लिए अलग से हिस्सेदारी करने, पिछड़ा वर्ग के लिए निर्धारित 27 प्रतिशत आरक्षण में से प्रजापति/कुम्हार सहित अन्य पिछड़ी जातियों को जनसंख्या के अनुपात में आरक्षण का बंटवारा करने, उत्तर प्रदेश में कुम्हारों की हत्याओं और उत्पीड़न के सभी आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार करने, मैनपुरी में एक ही परिवार के जलाकर मारे गये पांच लोगों की जांच सीबीआई से कराने की मांग की गई है.

Tags: Meerut news, Meerut Prajapati Samaj Adhikar Rally, UP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर